चुनावी माहौल में सख्ती के दौरान एसएसबी ने पकड़ी करोड़ों की चरस, एक तस्कर गिरफ्तार

बरामद की गई चरस समेत युवक को नारकोटिक्स ब्यूरो को सौंप दिया जाएगा। ताकि यह पता लग सके कि कहीं इसका संबंध आगामी चुनाव से तो नहीं है। क्यूंकि चुनावों के समय में वोटर्स को लुभाने की खातिर इस तरह से लेन देन प्रचलन में है।

चुनावी माहौल में सख्ती के दौरान एसएसबी ने पकड़ी करोड़ों की चरस, एक तस्कर गिरफ्तार
नशीले पदार्थ
बिहार राज्य में चुनाव का माहौल है। हर तरफ  स्थानीय नेता चुनाव प्रचार की तैयारियों में मशगूल है। तो वहीं एसएसबी की टीम ने रक्सौल में करीब 20 करोड़ रुपए की लगभग 50 किलोग्राम चरस बरामद की है। इसके साथ ही एक तस्कर को गाड़ी समेत पकड़ा है। इस तस्करी का खुलासा होने के बाद एसएसबी अधिकारी ने बताया कि नारकोटिक्स विभाग को नेपाल से बिहार चरस तस्करी की सूचना मिली थी। जिसके बाद एसएसबी की टीम ने एक तस्कर को पकड़ा है। जो नेपाल से रक्सौल करीब 20 करोड़ रुपए की चरस लेे जाने वाला था। इसके साथ ही एक पिकअप को भी पुलिस ने अपने कब्जे में लिया है।
इसके साथ ही अब बरामद की गई चरस समेत युवक को नारकोटिक्स ब्यूरो को सौंप दिया जाएगा। ताकि यह पता लग सके कि कहीं इसका संबंध आगामी चुनाव से तो नहीं है। क्यूंकि चुनावों के समय में वोटर्स को लुभाने की खातिर इस तरह से लेन देन प्रचलन में है। खासकर युवाओं को नशीले पदार्थों की बिक्री कर आसानी से इसे रुपए में परिवर्तित किया जा सकता है। इसलिए एनसीबी द्वारा मामले से जुड़े हर पहलू पर जांच की जाएगी। तो वहीं 47 वीं बटालियन के कमाडेंट प्रियवर्त शर्मा का कहना है कि एन डी पी एस एक्ट 1985 के अनुसार नशीले पदार्थों को लाने और लेे जाने में शामिल व्यक्ति को अपराधी माना जाता है  ऐसे में रक्सौल सीमा से जिस भारतीय तस्कर को पकड़ा गया है, उससे सख्ती से निपटा जाएगा।