हरियाणा में कोरोना की दूसरी लहर घातक, एक दिन में 31 की मौत, गुरुग्राम में सबसे ज्यादा 726 नए मरीज

मंगलवार को हुई 24 मौतों के बाद बुधवार को भी प्रदेश में 31 मरीज कोरोना का ग्रास बन गए। दो दिन में रोहतक पीजीआई में 18 मरीजों की मौत हो गई है। गुरुग्राम, फरीदाबाद, हिसार और करनाल में मरने वाले मरीजों की संख्या सबसे अधिक है।

हरियाणा में कोरोना की दूसरी लहर घातक, एक दिन में 31 की मौत,  गुरुग्राम में सबसे ज्यादा 726 नए मरीज

हरियाणा में कोरोना वायरस की दूसरी लहर लगातार घातक होती जा रही है। मंगलवार को हुई 24 मौतों के बाद बुधवार को भी प्रदेश में 31 मरीज कोरोना का ग्रास बन गए। अकेले पीजीआई रोहतक में 11 मरीजों ने एक ही दिन में दम तोड़ा।

दो दिन में रोहतक पीजीआई में 18 मरीजों की मौत हो गई है। गुरुग्राम, फरीदाबाद, हिसार और करनाल ऐसे जिले हैं, जहां संक्रमण से मरने वाले मरीजों की संख्या सबसे अधिक है। अभी तक गुरुग्राम में 233, फरीदाबाद में 266, हिसार में 156 और करनाल में 122, सिरसा में 90, रोहतक में 85 मौतें हो चुकी हैं। प्रदेश में अभी भी 303 मरीजों की हालत नाजुक बनी हैं, जिन्हें वेंटिलेटर और ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया है।
उधर, प्रदेश में संक्रमण की दर लगातार बढ़ने लगी है और रिकवरी रेट भी नीचे आ रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने एहतियातन प्रदेश में 210861 मरीजों को चिकित्सीय निगरानी में रखा है। पिछले 24 घंटों में हरियाणा में 2546 नए संक्र्तमित मरीज सामने आ चुके हैं और 1829 मरीज ठीक भी हुए हैं। दम तोड़ने वाले 31 मरीजों में से दो मरीज गुरुग्राम, चार हिसार, तीन करनाल, 11 मरीज रोहतक, तीन सिरसा, एक भिवानी, चार फतेहाबाद, एक कैथल और दो मरीज जींद के शामिल हैं। संक्र्तमण की दर प्रदेश में लगातार बढ़ रही है। यह दर 6.54 प्रतिशत तक पहुंच गई है। जबकि रिकवरी रेट और घटकर 89.69 प्रतिशत पहुंच गया है। अब तक कुल संक्रमित 187777 मरीजों में से 17421 कोरोना मरीज सक्र्तिय हैं। 4420 संदिग्ध लोगों की सैंपल रिपोर्ट आना अभी बाकी है।
सिर्फ चार शवों के संस्कार की है व्यवस्था
रोहतक में कोरोना से मृतकों की संख्या बढ़ रही है। रोहतक नगर निगम की ओर से एक दिन में महज चार संक्रमित शवों को जलाने की व्यवस्था है। बुधवार को दो शिफ्टों में सात शवों का अंतिम संस्कार किया गया और एक को दफनाया गया। 10 शवों को अंतिम संस्कार के लिए अभी रखवाया गया है।

गुरुग्राम में  एक दिन में 726 नए मरीज
पिछले 24 घंटे में गुरुग्राम में सबसे ज्यादा 726 नए मरीज सामने आए हैं। वहीं, फरीदाबाद में 551, सोनीपत में 147, हिसार में 236, अंबाला में 33, करनाल में 34, पानीपत में 56, रोहतक में 106, रेवाड़ी में 97, पंचकूला में 67, कुरुक्षेत्र में 40, यमुनानगर में 09, सिरसा में 98, महेंद्रगढ़ में 43, भिवानी में 48, झज्जर में 62, पलवल में 06, फतेहाबाद में 75, कैथल में 02, जींद में 67, नूहं में 11 और चरखीदादरी में 32 नए मरीज मिले हैं।

जिलों में कुल संक्रमित मरीज
अब तक गुरुग्राम में 36893, फरीदाबाद में 29739, सोनीपत में 11012, हिसार में 12363, अंबाला में 9287, करनाल में 8664, पानीपत में 8377, रोहतक में 8909, रेवाड़ी में 8759, पंचकूला में 7711, कुरुक्षेत्र में 7040, यमुनानगर में 5249, सिरसा में 6186, महेंद्रगढ़ में 5575, भिवानी में 4505, झज्जर में 4184, पलवल में 3573, फतेहाबाद में 3568, कैथल में 3099, जींद में 3152, नूहं में 1360 और चरखीदादरी में 1118 कुल संक्र्तमित मरीज सामने आ चुके हैं।

अब ठीक हुए इतने मरीज
अब तक गुरुग्राम में 36578, फरीदाबाद में 29806, सोनीपत में 10908, हिसार में 12263, अंबाला में 9280, करनाल में 8652, पानीपत में 8346, रोहतक में 8852, रेवाड़ी में 8725, पंचकूला में 7685, कुरुक्षेत्र में 7016, यमुनानगर में 5251, सिरसा में 6151, महेंद्रगढ़ में 5580, भिवानी में 4541, झज्जर में 4178, पलवल में 3581, फतेहाबाद में 3521, कैथल में 3144, जींद में 3107, नूहं में 1352 और चरखीदादरी में 1089 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।

सभी जिला उपायुक्तों को निर्देश दिए हैं कि कोविड पॉजिटिव मरीजों को होम आइसोलेशन में रखवाएं। इस दौरान उन्हें कोविड किट के साथ पल्स ऑक्सीमीटर अवश्य दिया जाए। पुलिस विभाग को भी निर्देश दिए हैं कि मास्क न पहनने वालों के चालान करने की प्रक्रिया को और सख्ती से अमल में लाया जाए। लोगों से भी अपील है कि वे जागरूकता का परिचय देते हुए महामारी के दौर में बिना मास्क घर से न निकलें।
 अनिल विज, स्वास्थ्य मंत्री

त्योहरों को देखते हुए सभी जिलों में कोविड टेस्टिंग बढ़ाई जा रही है। लोगों को जागरूक करने के लिए जिला स्तरीय आईईसी अभियान लागू किया जा रहा है। कोई भी पॉजीटिव व्यक्ति मिलता है तो 72 घंटे के अंदर उसके संपर्क में आने वाले कम से कम 15 लोगों की सूचना एकत्रित की जा रही है। सभी सीएमओ को निर्देश दिए हैं कि समय से उनकी ट्रेसिंग कर टेस्टिंग की जाए। सभी जिलों में टेस्टिंग में भी वृद्धि करने को कहा गया है।
- राजीव अरोड़ा, अतिरिक्त मुख्य सचिव, स्वास्थ्य विभाग