हाई कोर्ट ने सिरसा की महिला पर लगाया जुर्माना, तलाक के बिना प्रेमी के साथ रहना अनुचित

हाई कोर्ट ने सिरसा की महिला पर लगाया जुर्माना, तलाक के बिना प्रेमी के साथ रहना अनुचित
तलाक के बिना प्रेमी का साथ होना

पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने सिरसा निवासी एक महिला की याचिका को खारिज करते हुए यह फैसला सुनाया। कि यदि पत्नी पति से तलाक लिए बिना अपने प्रेमी के साथ रहती है। तो इसके गलत माना जाएगा। ऐसे में हाईकोर्ट के निर्देश अनुसार उक्त महिला को दोषी ठहराते हुए कोर्ट ने उस पर जुर्माना भी लगाया है।

आपको बता दें कि अपने पति और ससुराल वालों से जान का खतरा बताते हुए एक महिला राजबाला ने कोर्ट से सुरक्षा की मांग की थी। उसका कहना था कि साल 2011 में उसकी शादी दिनेश कुमार से हुई थी। जिसके दो बच्चे भी हैं। लेकिन यह शादी उसकी मर्जी के खिलाफ हुई, वह किसी और के साथ प्रेम प्रसंग में थी। परन्तु घर वालों के कहने पर उसने दिनेश से शादी कर ली। जो शादी के बाद से ही उसके साथ मार पीट करता था। ऐसे में जब राजबाला ने अपने पति से अलग रहने की सोची। तो मायके वालों ने उसकी कोई मदद नहीं की। ऐसे में राजबाला ने अपने पति को तलाक दिए बिना अपने पति के साथ रहना शुरू कर दिया। और अपने पति से जान का खतरा बताते हुए राजबाला में कानून का सहारा लिया। जिस पर फैसला देते हुए हाईकोर्ट ने महिला की याचिका को खारिज कर दिया। और उससे व उसके प्रेमी से लिखित समझौता करवाया कि अब वह महिला के ससुराल और पति पर दहेज और घरेलू हिंसा का मुकदमा नहीं करेंगे। और महिला बिना तलाक के अपने प्रेमी के साथ रह रही थी। और उसने कानून व्यवस्था का दुरुपयोग किया है। ऐसे में कोर्ट ने महिला पर 25 हजार रुपए का जुर्माना लगाते हुए महिला के प्रेमी के साथ रिश्ते को व्याभिचार वाला आचरण बता दिया।