मुख्यमंत्री विवाह शुगुन योजना की बढ़ाई गई राशि :- उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार – ब…


मुख्यमंत्री विवाह शुगुन योजना की बढ़ाई गई राशि :- उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार
– बीपीएल परिवारों को कन्यादान के तौर पर मिलेगी 71 हजार रुपये की राशि
रोहतक, 24 अक्तूबर : उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने बताया कि राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री विवाह योजना के तहत पात्र व्यक्तियों को दी जाने वाली शगुन की राशि में बढ़ोतरी की है। योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले अनुसूचित जाति के परिवारों को कन्यादान के तौर पर अब 71 हजार रूपये की राशि दी जाएगी। इस योजना के तहत शगुन के तौर पर 66 हजार रूपये की राशि शादी के अवसर पर तथा 5 हजार रूपये की राशि शादी का रजिस्ट्रेशन करवाने के उपरान्त दी जाएगी।
कैप्टन मनोज कुमार ने बताया कि समाज की सभी वर्गो की विधवाओं/तलाकशुदा/अनाथ/बेसहारा औरतों तथा बेसहारा बच्चों व उनकी शादी हेतू 51 हजार रुपयेे की राशि दी जाएगी, जिनकी वार्षिक आय 1,80,000 रूपये से कम हो। सामान्य एवं पिछड़े वर्ग से सम्बन्धित गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले, जिनकी वार्षिक आय एक लाख 80 हजार रुपये से कम हैं उन व्यक्तियों की लडक़ी की शादी के लिये 31 हजार रूपये की राशि दी जाएगी। इस राशि में से 28 हजार रुपये शादी के समय तथा 3000 रुपये की राशि शादी का रजिस्ट्रेशन करवाने उपरान्त दी जाएगी।
उन्होंने बताया कि अनुसूचित जाति के व्यक्तियों का बी0पी0एल0 नहीं है तथा वार्षिक आय एक लाख 80 हजार रूपये से कम है तो ऐसे व्यक्तियों की लड़कियों की शादी में 31 हजार रूपये की राशि दी जाएगी। प्रावधान के अनुसार 28 हजार रुपये शादी के समय तथा 3000 रुपये की राशि शादी का रजिस्ट्रेशन करवाने उपरान्त। किसी भी जाति एवं बिना आय निर्धारण के महिला खिलाड़ी, जिसने 26 ओलम्पिक गेम्स, 22 गैर औलम्पिक गेम्स और 16 टूर्नामैेंट या चैम्पियनशिप में से किसी एक में हिस्सा लिया हो, तो उसकी स्वयं की शादी के लिये 31 हजार रूपये की राशि दिये जाने का प्रावधान है।
उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने बताया कि सामूहिक विवाह (कम से कम 10 जोड़े) करने वाले जोड़े में से यदि एक हरियाणा निवासी हो तो उस जोड़े की दी जाने वाली आर्थिक सहायता 51 हजार रुपये है। यदि जोड़े में सें दोनों (पति-पत्नी) दिव्यांग हों तो आर्थिक सहायता 51 हजार रुपये दी जाएगी और यदि जोड़े में से कोई एक (पति या पत्नी) दिव्यांग हो तो आर्थिक सहायता 31 हजार रुपये दी जाएगी। सरकार के आदेशानुसार व्यक्ति को अपनी लडक़ी की शादी से दो महीने पहले आवेदन करना होगा। शादी के तीन महीने तक ही प्रार्थी किसी ठोस कारण सहित आवेदन कर सकता है। शादी के बाद निदेशालय पंचकुला द्वारा ही अनुमति दी जाएगी। सभी आवेदक शादी से दो माह पहले ही आवेदन करें।
0 0 0 0 0 0 0 000 0 0 0 0 0




Source

Leave a Comment