व्यापारियों की सहूलियत के लिए सरकार ने बनाई हैं अनेकों योजनाएं: श्री मनोहर लाल …


व्यापारियों की सहूलियत के लिए सरकार ने बनाई हैं अनेकों योजनाएं: श्री मनोहर लाल

मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि व्यापारी व उद्योगपति एक भागीदार की तरह सरकार के साथ मिलकर कार्य करते हैं। व्यापारी व उद्योगपति भी जनता का हिस्सा होते हैं, हर व्यापारी अपनी नेक कमाई में से जनकल्याण के लिए एक अंशदान दान के रूप में देने की परम्परा पर प्राचीन समय से ही चलता आ रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि व्यापारियों की सहूलियत के लिए सरकार ने अनेकों योजनाएं बनाई हैं। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की तर्ज पर छोटे व्यापारियों के लिए मुख्यमंत्री व्यापारी क्षतिपूर्ति बीमा योजना तथा बड़े व्यापारियों के लिए सामूहिक निजी दुर्घटना बीमा योजना लागू की गई हैं। इसके लिए वित्त विभाग में अलग से एक प्रकोष्ठ का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि छोटे व्यापारियों का प्रीमियम राज्य सरकार द्वारा ही वहन किया जाएगा। योजना के तहत दो लाख रुपये का बीमा कवर होगा।

व्यापारी निश्चिंत होकर करें अपना कारोबार

मुख्यमंत्री आज यहां उनके सरकारी आवास पर मिलने आए व्यापार प्रकोष्ठ के प्रतिनिधियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि व्यापारी सरकार के लिए टैक्स एकत्रित करने का एक बड़ा माध्यम है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने ‘‘एक राष्ट्र-एक टैक्स’’ की अवधारणा से जीएसटी लागू की है। व्यापारियों द्वारा टैक्स के रूप में सरकार के पास जमा की गई राशि सरकार जनता की भलाई के लिए विकास कार्यों व योजनाओं पर खर्च करती है। सरकार तो इस राशि एक प्रबंधक की भूमिका निभाती है। उन्होंने कहा कि व्यवस्था कोई भी हो, पारदर्शी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि व्यापारी निश्चिंत होकर अपना कारोबार करते रहें। वैश्विक स्तर पर जब किसी कारण से व्यापार में उतार चढ़ाव होता है तो ऐसे जोखिमों से व्यापारियों को सावधान रहना चाहिए।

कोई भी कागज़ रद्दी की टोकरी में नहीं फेंका जाता

बारिश के बावजूद भी मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम को जारी रखा और हर जिले के प्रतिनिधि से संवाद करके यह संदेश दिया की कर्म करना ही उनका संकल्प है बारिश आना एक अच्छी बात है। उन्होंने कहा कि जिन प्रतिनिधियों के पास सुझाव है वह लिखित में दे दे क्योंकि उनके कार्यालय में कोई भी कागज़ रद्दी की टोकरी में नहीं फेंका जाता जैसे पहले की सरकारों में होता रहा होगा। प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री को अवगत करवाया की सीएम विंडो के माध्यम से समस्याओं का हो रहा है समाधान और यह लोगों में चर्चा का विषय भी बना हुआ है। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा सीएम विंडो पर लगभग 9 लाख शिकायतों का समाधान किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि सीएम विंडो पर पुलिस से संबंधित ज्यादा होती है इसलिए उन्होंने पुलिस महानिदेशक को निर्देश दिए है कि प्राथमिकता आधार पर 100 शिकायतें रेनडम के तौर लेकर इनका समाधान और इसकी जानकारी स्वयं उनको दे। मुख्यमंत्री ने कहा कि सीएम विंडो पर मिली शिकायत पर की गई कार्यवाही पर शिकायतकर्ता व एक प्रबुद्ध नागरिक के हस्ताक्षर लिए जाते हैं कि वे समाधान से संतुष्ट हैं। बाद में शिकायत को फाइल किया जाता हैं।

#Haryana #CM #ManoharLal #DIPRHaryana







Source

Leave a Comment