Agriculture Department, Haryana (Crop Residue Management)


फसल अवशेष प्रबंधन स्कीम के तहत 18 अक्तूबर को सभी कृषि यंत्रों व कस्टम हायरिंग सेंटरों का होगा भौतिक सत्यापन :- अतिरिक्त उपायुक्त महेंद्रपाल
रोहतक, 17 अक्तूबर : अतिरिक्त उपायुक्त महेंद्र पाल ने बताया कि फसल अवशेष प्रबंधन स्कीम के तहत ऐसे पात्र किसान अथवा सीएचसी जिन्होंने अधिकृत विक्रेता से अपने आवेदित कृषि यंत्र को खरीद कर कृषि यंत्र का बिल, ई वे बिल, स्वयं घोषणा पत्र व जीपीएस लोकेशन सहित मशीन के साथ फोटो विभागीय पोर्टल www.agriharyanacrm.com पर 9 अक्तूबर तक अपलोड कर चुके है और उन्होंने 11 व 12 अक्टूबर को अपने कृषि यंत्रो का भौतिक सत्यापन नहीं करवाया है। उन सभी बचे हुए व्यक्तिगत श्रेणी के कृषि यंत्रों का भौतिक सत्यापन 18 अक्तूबर को जिला स्तरीय कार्यकारी कमेटी द्वारा अनाज मंडी, रोहतक में व कस्टम हायरिंग सेंटरों का भौतिक सत्यापन स्थापित कस्टम हायरिंग सेंटरों पर किया जाएगा।
सहायक कृषि अभियंता इंजीनियर विजय कुमार कुंडू ने जानकारी देते हुए बताया कि व्यक्तिगत किसानो की श्रेणी में जिन किसान ने कृषि यंत्रो के लिए अप्लाई किया था, वे मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पर पंजीकरण व आवेदन पत्र के साथ आधार कार्ड कि फोटो प्रति, ट्रैक्टर कि आरसी की प्रति, जिसके नाम से कृषि यंत्र खरीदा हो, पिछले दो वर्षो में कृषि यंत्र खरीदने का शपथ पत्र, पटवारी कि रिपोर्ट, आरक्षित वर्ग का प्रमाणपत्र साथ सलंग्न करवाना अनिवार्य है। उन्होंने बताया कि रोहतक जिले के सभी ब्लॉक के व्यक्तिगत कृषि यंत्रो का भौतिक सत्यापन 18 अक्तूबर अनाज मंडी, रोहतक में प्रात: 9 से दोपहर 2 बजे तक किया जायेगा। सीएचसी का भौतिक सत्यापन जिला स्तरीय कार्यकारी कमेटी द्वारा 18 अक्तूबर को स्थापित सीएचसी पर किया जायेगा। अधिक जानकारी के लिए आवेदक सहायक कृषि अभियंता, रोहतक व उप कृषि निदेशक, रोहतक कार्यालय में सम्पर्क कर सकते है।
0 0 0 0 0 0 0 0 0 0 0 0 0

Agriculture Department, Haryana (Crop Residue Management)



Source

Leave a Comment