जिला में 580 मीट्रिक धान एमएसपी पर खरीदी गई :- उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार – 295 …


जिला में 580 मीट्रिक धान एमएसपी पर खरीदी गई :- उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार
– 295 मीट्रिक टन बाजरा की खरीद भी की गई
– किसान फसल को सूखाकर व साफ करके मंडियो में लाये
– फसल अवशेषों का किसान करें सही प्रबंधन, आग न लगाये
रोहतक, 12 अक्तूबर : उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने बताया कि जिला में सरकार के निर्देशानुसार धान व बाजरा की फसल की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद की जा रही है। जिला में अब तक 580 मीट्रिक टन धान की खरीद की गई है तथा 295 मीट्रिक टन बाजरा की आवक दर्ज हुई है। केंद्र सरकार द्वारा धान की सामान्य किस्म के लिए 1940 रुपये तथा ग्रेड ए किस्म के लिए 1960 रुपये प्रति क्विंटल तथा बाजरा के लिए 2250 रुपये प्रति क्विंटल न्यूनतम समर्थन मूल्य निर्धारित किया गया है। इसी प्रकार मूंग के लिए 7275 रुपये प्रति क्विंटल न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित किया गया है।
कैप्टन मनोज कुमार ने बताया कि रोहतक मंडी में अब तक 580 मीट्रिक टन धान तथा सांपला मंडी में 22 मीट्रिक टन धान की खरीद की गई है। इसी प्रकार रोहतक मंडी में अभी तक 295 मीट्रिक टन बाजरा तथा सांपला मंडी में 6 मीट्रिक टन बाजरे की आवक दर्ज की गई है। उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने किसानों से आह्वïान किया है कि वे अपनी फसल को अच्छी तरह सुखाकर व साफ करके मंडिय़ों में लाये ताकि फसल बिक्री में कोई असुविधा न हो। जिला प्रशासन द्वारा मंडियों में किसानों के लिए सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई है।
उपायुक्त ने कहा कि फसल अवशेषों का सही प्रबंधन करें ताकि पर्यावरण को संरक्षित रखने के साथ-साथ मिट्टïी की उपजाऊ शक्ति बढ़ाई जा सके। किसान फसल अवशेषों को आग न लगाये। फसल अवशेष जलाने से पर्यावरण को हानि पहुंचती है तथा किसान के मित्र कीट भी नष्टï होते है। जिला प्रशासन द्वारा जिला में फसल अवशेष जलाने पर निगरानी रखने के लिए समितियां गठित की गई है, जो निरंतर ऐसी घटनाओं पर निगरानी रख रही है। फसल अवशेष जलाने वाले किसानों के विरुद्घ नियमानुसार कार्रवाई की जायेगी।
0 0 0 0 0 0 0 0 0 0 0 0




Source

Leave a Comment