अभी कोरोना महामारी पूरी तरह खत्म नहीं :- डीसी कैप्टन मनोज कुमार – नागरिक रहे सतर…


अभी कोरोना महामारी पूरी तरह खत्म नहीं :- डीसी कैप्टन मनोज कुमार
– नागरिक रहे सतर्क
– त्योहारों के सीजन में रखे विशेष ध्यान
रोहतक, 12 अक्तूबर : उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने कहा है कि कोरोना महामारी का प्रकोप अभी खत्म नहीं हुआ है। महामारी का वायरस अलग-अलग रूपों में सामने आ रहा है। इसलिए लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि थोड़ी सी बेपरवाही महंगी साबित हो सकती है।
कैप्टन मनोज कुमार ने कहा कि आवश्यक सावधानियों को अपनाकर खुद को और आसपास के लोगों को सुरक्षित रखा जा सकता है। इसके साथ ही प्रत्येक नागरिक को स्वास्थ्य विभाग द्वारा समय-समय पर जारी किए जाने वाले परामर्श की भी अनुपालना करनी होगी। कैप्टन मनोज कुमार ने कहा कि प्रत्येक नागरिक का यह नैतिक दायित्व है कि कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए हर जरूरी कदम उठाएं। दूसरों से सुरक्षित दूरी बनाए रखें, भले ही वह बीमार न हो। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक स्थानों पर मास्क अवश्य लगाएं। खासतौर पर इमारत के भीतर या जब शारीरिक दूरी बनाना संभव न हो तो मास्क की भूमिका और भी महत्वपूर्ण हो जाती है। बंद स्थानों की बजाय खुली व हवादार जगह चुनें।
कैप्टन मनोज कुमार ने कहा कि अगर आप किसी इमारत के भीतर है तो खिड़कियां खुली रखें। हाथों को बार-बार धोयें। हाथ धोने के लिए साबुन पानी या अल्कोहल वाला हेंडसेनिटाइजर इस्तेमाल करें। कैप्टन मनोज कुमार ने कहा कि खांसी या छींक आने पर अपनी नाक और मुंह को कोहनी या रुमाल से ढक ले। अस्वस्थ महसूस करने पर घर पर ही रहे। बुखार, खांसी अथवा सांस लेने में परेशानी है तो डॉक्टर के पास जाएं। उन्होंने कहा कि अगर मास्क सही फिटिंग वाला हो तो मास्क लगाने वाले व्यक्ति से दूसरों में वायरस फैलने से रोकने में मदद मिल सकती है। केवल मास्क लगाकर कोविड-19 से नहीं बचा जा सकता। इसके लिए शारीरिक दूरी बनाए रखनी होगी।
उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने कहा है कि जिला में कोरोना की पॉजिटीविटी दर कम होकर 4.86 प्रतिशत रह गई है तथा रिकवरी दर 97.72 प्रतिशत हो गई है। आज कोविड-19 के 1067 सैंपल जांच के लिए भेजे गए, जिनमें से दो सैंपल पॉजिटिव पाये गये है, जबकि 710 सैंपल का परिणाम आना शेष है। आज तक के आंकड़ों के अनुसार जिला में अब तक 530440 व्यक्तियों को सर्वेलेंस पर रखा गया, जिनमें संक्रमितों के सम्पर्क में आए व्यक्ति भी शामिल है।
कैप्टन मनोज कुमार ने कहा है कि जिला में अब तक कोविड-19 के 5 लाख 31 हजार 924 सैंपल लिए गए हैं, जिनमें से 25898 सैंपल पॉजिटिव पाए गए तथा 5 लाख 5 हजार 316 सैंपल नेगेटिव पाये गए। इनमें से उपचार के बाद 25328 व्यक्ति स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके है। जिला में वर्तमान में कोविड-19 के 4 मरीज है, जो डॉक्टरों की सलाह से घर पर उपचार ले रहे है।
—-000000000000—–
कोविड संक्रमण से बचाव का वैक्सीन एकमात्र उपाय:- कैप्टन मनोज कुमार
– कोरोना की दोनों वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित एवं प्रभावी
– सभी टीकाकरण अवश्य करवाएं
– आज से पीजीआई में राजबीर सिंह की ओपीडी में कार्य दिवस में होगा टीकाकरण
रोहतक, 12 अक्तूबर : उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने कहा है कि कोरोना महामारी से बचने के लिए वैक्सीन ही एकमात्र सुरक्षा कवच है। कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण करने में वैक्सीन को बेहद कारगर बताते हुए उन्होंने कहा कि वैक्सीन लेने के बाद गंभीर बीमारी और मृत्यु होने का खतरा काफी कम हो जाता है। इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को टीका अवश्य लगवाना चाहिए।
वैक्सीन के लाभ के बारे में उन्होंने कहा कि वैक्सीन शरीर में एंटी बॉडीज पैदा करती है। इसे लगाने से मनुष्य के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। उन्होंने कहा कि बीमारी की जकड़ में आने से पहले वैक्सीन को लगाया जाता है। उन्होंने कहा कि चिकित्सकों द्वारा यह सुझाव दिया जा रहा है कि वैक्सीन सभी को लेनी चाहिए।
कैप्टन मनोज कुमार ने कहा कि वैक्सीन लगवाने के बाद अगर कोई व्यक्ति कोरोना संक्रमित हो भी जाता हैं तो उसे हॉस्पिटल में एडमिट होने की जरूरत नहीं पड़ेगी। ऐसे सभी व्यक्ति घर पर ही ठीक हो सकते हैं। इसे लगाने से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित होती है। उन्होंने कहा कि यह बीमारी का इलाज नहीं करता बल्कि उस बीमारी को रोकने में मदद करता है।
कैप्टन मनोज कुमार ने कहा कि वैक्सीन लगवाने के बाद इसका प्रमाण पत्र अनेक कार्यों में काम आता है। इसलिए भी वैक्सीन का लगवाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि जिस भी नागरिक ने कोविड-19 वैक्सीन की पहली डोज या फिर दोनों डोज लगवा ली हैं तो वह कोविड-19 वैक्सीन सर्टिफिकेट डाउनलोड कर सकता है। इसके लिए सबसे पहले कोविन पोर्टल पर जाना होगा। उसके बाद लाभार्थी को रेफ्रेंस आईडी में की दर्ज करनी होगी। उसके बाद सर्टिफिकेट डाउनलोड करने के लिए सर्च ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। ऐसा करने के बाद पंजीकृत फोन पर कोविड-19 वैक्सीन सर्टिफिकेट डाउनलोड हो जाएगा।
सिविल सर्जन डॉ. जेएस पुनिया के दिशा-निर्देशानुसार जिला में कोविड-19 की तीसरी लहर से बचने के लिए 13 अक्तूबर से पीजीआईएमएस रोहतक में डॉ. राजबीर सिंह की ओपीडी में को-वैक्सीन व कोविशिल्ड के टीके प्रतिदिन कार्य दिवस में लगाये जायेंगे। उन्होंने बताया कि जिला में वैक्सीन की कोई कमी नहीं है। यह कैंप आमजन की सुविधा के लिए लगाये गये है।
—-000000000000—–
महामारी से बचाव के लिए टीकाकरण कारगर : डॉ. अनिलजीत त्रेहान
– अब तक दी जा चुकी है 8 लाख 81 हजार 646 डोज
रोहतक, 12 अक्तूबर : जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ अनिलजीत त्रेहान ने बताया कि जिला में महामारी से बचाव के लिए चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान के तहत अब तक 881646 डोज दी जा चुकी है। उन्होंने बताया कि हेल्थ केयर वर्कर को अब तक 24699 डोज दी जा चुकी है। इसी प्रकार फ्रंटलाइन वर्कर को 15330 डोज दी जा चुकी है। इसी प्रकार 18 से 44 आयु वर्ग में 471848 डोज लगाई जा चुकी है। इसी प्रकार 45 से 60 आयु वर्ग में 199952 डोज लगाई जा चुकी है। उन्होंने बताया कि 60 वर्ष या इससे अधिक आयु वर्ग में 169817 डोज लगाई जा चुकी है। डॉक्टर त्रेहान ने बताया कि आज कोविशिल्ड की 6958 व को-वैक्सीन की 990 डोज लगाई गई।
बॉक्स :
आज 5 स्थानों पर लगेगा वैक्सीनेशन कैंप :-
जिला टीकाकरण अधिकारी अनिलजीत त्रेहान ने बताया कि 13 अक्तूबर को अम्बेडकर पार्क झज्जर रोड़, पुरानी आईटीआई मैदान, देवी लाल पार्क (प्रात: 7 बजे), गुफा वाला मंदिर (सायं 4:30 बजे तक) व शीतला माता मंदिर (दोपहर 12 बजे तक) शिविर आयोजित किये जायेगे। उन्होंने उपरोक्त क्षेत्रों के आसपास के लोगों से अपील की कि वे अपने नजदीकी शिविर में पहुंचकर महामारी से बचाव का टीका अवश्य लगवाये।
—-000000000000—–





Source

Leave a Comment