किसान संगठनों के विरोध के परिणामस्वरूप हरियाणा में काफी लंबे समय से अवरुद्ध राष्…


किसान संगठनों के विरोध के परिणामस्वरूप हरियाणा में काफी लंबे समय से अवरुद्ध राष्ट्रीय राजमार्गों को खुलवाने के संदर्भ में हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह से आज नई दिल्ली में उनके आवास पर मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने अवरुद्ध हुए राष्ट्रीय राजमार्गों को खुलवाने के संदर्भ में केंद्रीय गृह मंत्री के साथ विचार-विमर्श किया। हरियाणा में अन्य स्थानों भी पर किसानों द्वारा किए जा रहे धरना-प्रदर्शनों की स्थिति के बारे भी केंद्रीय गृह मंत्री को अवगत करवाया गया।
उल्लेखनीय है कि तीन कृषि अधिनियमों का विभिन्न किसान संगठनों द्वारा विरोध किए जाने के परिणामस्वरूप काफी लंबे समय से हरियाणा में दिल्ली के साथ लगते सिंघू बार्डर व टिकरी बार्डर पर राष्ट्रीय राजमार्ग अवरूद्ध हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग अवरूद्ध होने के परिणामस्वरूप आम जनता विशेषकर सिंघू बार्डर व टिकरी बार्डर के निकटवर्ती औद्योगिक क्षेत्र व आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों के लिए परेशानी बनी हुई है। निकटवर्ती क्षेत्रों के निवासियों द्वारा अवरूद्ध हुए राजमार्गों को खुलवाने के लिए लगातार मांग भी की जा रही है।
केंद्रीय गृह मंत्री से मुलाकात के उपरांत मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि उपरोक्त विषय पर बातचीत जारी है और 20 अक्तूबर को हरियाणा सरकार सर्वोच्च न्यायालय में अपना पक्ष रखेगी। किसान नेताओं को भी पार्टी बनाया गया है। इससे पहले किसान संगठनों के साथ कोई सहमति बनती है तो सही है। उसके उपरांत सर्वोच्च न्यायालय के आदेशानुसार राजमार्गों को खुलवाया जाएगा। किसानों से उनके विरोध प्रदर्शन व आंदोलन के दौरान शांति बनाए रखने की सदैव अपील की जाती रही है और केंद्रीय गृह मंत्री ने भी यही अपेक्षा की है।


Source

Leave a Comment