किसान संगठनों के विरोध के परिणामस्वरूप हरियाणा में सिंघु बार्डर पर अवरूद्ध राष्ट…


किसान संगठनों के विरोध के परिणामस्वरूप हरियाणा में सिंघु बार्डर पर अवरूद्ध राष्ट्रीय राजमार्गों को खुलवाने की मांग को लेकर भारतीय किसान संघ के नेतृत्व में सोनीपत जिला के विभिन्न गांवों के किसानों ने आज नई दिल्ली में हरियाणा भवन में मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल को एक ज्ञापन दिया।
मुख्यमंत्री ने उन्हे आश्वस्त किया कि इस संदर्भ में सभी प्रयास जारी हैं, बातचीत जारी है और आशा है कि प्रदेश में अवरूद्ध हुए राष्ट्रीय राजमार्ग शीघ्र खुल जाएंगे।
गौरतलब है कि सिंघु बार्डर पर रास्ता खुलवाने की मांग को लेकर आज ताहर सिंह चौहान-सह-संरक्षक भारतीय किसान संघ हरियाणा की अध्यक्षता में किसानों का प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री से मिलने के लिए हरियाणा भवन, दिल्ली पहुंचा था ।
इस प्रतिनिधिमंडल में सविता मोर, प्रदेश उपाध्यक्ष भारतीय किसान संघ, गौरव सरपंच जखोली, नरेश सरपंच खुरमपुर, मुकेश दहिया जिला प्रधान भारतीय किसान संघ, संजीव अंतिल जिला महामंत्री भारतीय किसान संघ, टीकाराम चौहान, कुलदीप चौहान, दीपक अटेरणा प्रदेश महामंत्री करणी सेना आदि शामिल थे ।
इसके उपरांत मुख्यमंत्री ने मीडीया से बातचीत करते हुए बताया कि उपरोक्त विषय पर बातचीत जारी है और 20 अक्तूबर को हरियाणा सरकार सर्वोच्च न्यायालय में अपना पक्ष रखेगी। अब सर्वोच्च न्यायालय ने किसानों को भी पार्टी बनाया है, वे भी अपना पक्ष सर्वोच्च न्यायालय में रखेंगे।
उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग अवरूद्ध होने की स्थिति में दूसरे सड़क मार्गों पर वाहनों के अधिक दबाव के परिणामस्वरूप टूट चुके सड़क मार्गों की एक माह में मरम्मत करवाने के निर्देश दिए गए हैं।





Source

Leave a Comment