लोक परंपरा के वाहक बने मनोहर, कराई सांझी प्रतियोगिता – गजेंद्र फौगाट – ढिगावा मे…


लोक परंपरा के वाहक बने मनोहर, कराई सांझी प्रतियोगिता – गजेंद्र फौगाट
– ढिगावा में 9 दिवसीय सांझी प्रतियोगिता में पहुंचे मुख्यमंत्री के ओसडी
– बोले प्रदेश में जगह-जगह होंगे लोक परंपरा के उत्सव
रोहतक, 8 अक्टूबर : प्रदेश की लोक परंपरा को संजोए रखने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अभूतपूर्व कार्य किए हैं। इसी श्रृंखला में प्रदेश में लोक परंपरा के प्रोत्साहन करने वाले उत्सव आयोजित किए जा रहे हैं।
यह बात मुख्यमंत्री के ओएसडी (विशेष प्रचार) व हरियाणा कला परिषद के अतिरिक्त निदेशक गजेंद्र फोगाट ने कही। वे आज लाखन माजरा समीप गांव डिघाना में नौ दिवसीय सांझी उत्सव के शुभारम्भ करने पश्चयात बोल रहे थे। इस अवसर पर सांझी प्रतियोगिता उत्सव के आयोजक रवि शंकर शर्मा ने उनका स्वागत किया।
कार्यक्रम में बोलते हुए गजेंद्र फोगाट ने बताया कि प्रदेश की लोक परंपरा सांझी एक महत्वपूर्ण त्यौहार है जो आसोज माह के चांदन पक्ष में मनाई जाती है। इसके पीछे परिवार की समृद्धि व नवरात्रों के दौरान बदलते हुए मौसम के साथ सामंजस्य स्थापित करना है। उन्होंने बताया किसान गांव के जोहड़ से छांटी मिट्टी गोबर, धागे, कोयला, गेरू व अन्य कृषि जीवन से जुड़ी वस्तुओं के सहयोग से सजाई जाती है।
फौगाट ने बताया कि यह नवरात्रों के पहले दिन व श्राद्धों के समापन से शुरू होकर दशहरे तक कभी भी बनाई जा सकती है। दशहरे पर इसे प्रवाहित कर दिया जाता है। ये सांझी संयुक्त परिवार की पवित्रता व रिश्तो की गरिमा बनाए रखने का भी प्रतीक है। इसके अलावा सांझी महिलाओं के साज सज्जा, उनके आभूषण व लोक परंपरागत पहनावे का भी प्रतीक है ।हरियाणा का लोक पहनावा खारा,अंगिया व गाती है जो कि अब नई पीढ़ी भूल चुकी है व दामण चूनड़ी को लोग पहनावा मानती है। सांझी में खारा,अंगिया गाती को ही दर्शाया जाता है।
गजेन्द्र ने जानकारी देते हुए कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के मार्गदर्शन में हरियाणा कला परिषद सांग उत्सव,रागनी उत्सव, पेंटिंग प्रतियोगिताएं व अन्य कलाओं के संपूर्ण विकास के लिए जगह-जगह आयोजन करवा रही है। इसी के अंतर्गत जिला स्तर पर पेंटिंग प्रतियोगिता पूर्ण हो चुकी है। जिसमें प्रदेश के हजारों स्कूलों के बच्चों ने इस प्रतियोगिता में हिस्सा लिया है। इस प्रतियोगिता का विषय मनोहर सरकार की जनकल्याणकारी योजनाएं रखा गया था जिस पर बच्चों ने मेरा पानी मेरी विरासत, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ,पराली समाधान योजना, शिक्षित पंचायतें, ग्रामीण विकास की योजनाएं, खेलों की योजनाएं व परिवार पहचान पत्र समेत अनेकों ऐसी योजनाओं पर पेंटिंग बनाई हैं जिससे जन जन का कल्याण हो रहा। इस प्रतियोगिता का राज्य स्तरीय उत्सव नवंबर माह में मनाया जाएगा जिसमें प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल को मुख्य अतिथि विजेताओं को पुरस्कार वितरित करेंगे।
फोटो : 20
0 0 0 00 0 0 0 0 0 0 0 0




Source

Leave a Comment