हरियाणा सार्वजनिक उपक्रम ब्यूरो के चेयरमैन सुभाष बराला ने आज हरियाणा राज्य सहकार…


हरियाणा सार्वजनिक उपक्रम ब्यूरो के चेयरमैन सुभाष बराला ने आज हरियाणा राज्य सहकारी आपूर्ति और विपणन महासंघ लिमिटड (हैफेड) की समीक्षा बैठक ली। बैठक में हैफड के चेयरमैन कैलाश भगत, सहकारिता विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल और हैफेड के प्रबंध निदेशक ए. श्रीनिवास मौजूद थे। बराला ने बैठक में निर्देश दिए कि गुणवत्ता के मानकों के आधार पर धान की अधिकतम खरीद हैफेड द्वारा की जाए और सुनिश्चित किया जाए कि किसानों को किसी तरह की समस्या का सामना न करना पड़े। चावल मिल में धान की कुटाई से पहले मिल का प्रत्यक्ष सत्यापन करने के निर्देश भी दिए गए।
बैठक में बराला ने निर्देश दिए कि प्रदेश की सभी प्रसंस्करण ईकाईओं का निर्विघ्न संचालन सुनिश्चित किया जाए । इसके साथ ही चावल की जो प्रसंस्कण ईकाईयां बंद हैं उनका पुनः संचालन सुनिश्चित किया जाये। श्री सुभाष बराला ने गुरुग्राम, दिल्ली और अन्य स्थानों पर स्थित व्यवसायिक गोदामों के बेहतर उपयोग करने के भी निर्देश दिए। चर्चा में अधिकारियों ने गन्नौर स्थित बीज कारखाने में बीज गुणवत्ता और निगरानी को और बेहतर करने के बारे में चर्चा की।
वही मड़ियों में अब धान आवक भी बढ़ने लगी है। हरियाणा की कई मंडियों और खरीद केन्द्रों में अब तक 58,162 किसानों के गेट पास काटे गए हैं । 3 लाख 70408 टन धान आया है। 15,424 किसानों की ऑक्शन डिटेल पूरी करने के बाद 4934 किसानों की 30662 टन की ऑक्शन डिटेल भी पंजीकृत कर दी गई है। अब मंडियों में धान की खरीद सुचारु तरीके से चल रही है।
बैठक में बराला ने प्रदेश के 16 गोदाम जिनका ढांचा पूर्ण रूप से तैयार नहीं है, उनकी छत नहीं बनने के कारणों की जाँच के भी आदेश दिए। रादौर स्थित हल्दी कारखाने की क्षमता और गुणवत्ता बढ़ाने की बात भी की गई। प्रदेश की आटा मिलों में उच्च गुणवत्ता के मल्टीग्रैन आटे, दलिया और बिस्किट के उत्पादन के निर्देश दिए गए। बैठक में हैफड के अनेक उच्च अधिकारी मौजूद रहे।




Source

Leave a Comment