राहगिरी में झूम उठे दर्शक, बुजुर्गों में भी छाई मस्ती – हरियाणवीं गीतों व नृत्य …


राहगिरी में झूम उठे दर्शक, बुजुर्गों में भी छाई मस्ती
– हरियाणवीं गीतों व नृत्य पर जमकर हुआ धमाल
– मुश्किल में भी जो हंसता मिले समझों हिन्दुस्तानी है
– नर्चरिंग नेबरहुड चैलेंज के तहत कार्यक्रम आयोजित
रोहतक, 3 अक्टूबर : जित सुथरे लोग-लुगाई वो मेरा हरियाणा जैसे हरियाणवी गीतों पर दर्शक झूम उठे, युवाओं और बुजुर्गों में भी मस्ती छा गई। ऐसा दृश्य आज मॉडल टाउन में आयोजित राहगिरी कार्यक्रम का था।
राहगिरी कार्यक्रम नर्चरिंग नेबरहुड चैलेंज के तहत रोहतक सहित उन 25 शहरों में आयोजित किया गया, जिनका चयन चैलेंज के तहत हुआ है। नृत्य, गीत, रागनी, लघु नाटिकाओं के अलावा मन संचालकों द्वारा बीच-बीच में की गई शायरी ने भी श्रोताओं में खूब जोश भरने का कार्य किया। कोरोना महामारी के संबंध में देशवासियों के हौंसले को बयां करती शायरी जब मंच संचालक प्रदीप ने की तो दर्शकों ने उनका पूरे जोश के साथ तालियां बजाकर स्वागत किया। अपनी शायरी के माध्यम से उन्होंने बताया कि मुश्किल में जो हंसता मिले वही हिंदुस्तानी है। छोटी-छोटी स्कूली बच्चों ने बेहद आकर्षक प्रस्तुतियां दी। मॉडल स्कूल की यशवी ने मैया यशोदा ये तेरा कन्हैया पनघट पर पकड़े मेरी कलैया के गीत पर नृत्य किया तो सबका ध्यान उस बच्ची की प्रस्तुति पर आकर्षित हो गया।
इस कार्यक्रम में बच्चे, युवा, बुजुर्गों सहित आम नागरिकों ने बढ़ चढक़र भाग लिया और इस कार्यक्रम का बखूबी आनंद उठाया। राहगीरी में योग, सांस्कृतिक कार्यक्रम, बॉक्सिंग, पेंटिंग, बैडमिंटन आदि खेलों का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में विभिन्न स्कूलों के बच्चों ने स्टेज पर अनेक देशभक्ति से ओतप्रोत, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, हरियाणवी, राजस्थानी, पंजाबी गीतों पर नृत्य कार्यक्रम प्रस्तुत कर उपस्थित लोगों को झूमने पर मजबूर कर दिया। कार्यक्रम में प्रस्तुतियां देने वाले बच्चों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में शहरवासियों सहित विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने बड़े ही जोश से भाग लिया।
बॉक्स :-
मकसद प्रतिभा उजागर करना :- मनमोहन गोयल
मेयर मनमोहन गोयल ने कहा कि राहगीरी का मुख्य उद्देश्य समाज में भाईचारा स्थापित करना और बच्चों-युवाओं में छुपी प्रतिभा को उजागर करना है। इसके साथ ही समाज में बुजुर्गों और महिलाओं का सम्मान हो इसके लिए भी युवाओं को आगे आना होगा। राहगीरी के माध्मय से समाज में समरसता को बढ़ावा देना, यातायात के नियमों के प्रति जागरूक करना, भाईचारा को बढ़ावा देना और समाज में व्याप्त बुराइयों को मिटाने के लिए जागरूकता पैदा करना है।
बॉक्स:-
बचपन अनुकूल पड़ोस को दिया जाएगा प्रोत्साहन :- उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार
उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने कहा कि नगर वासियों के लिए यह गौरव की बात है कि रोहतक देश के उन 25 शहरों में से एक है, जिन्हें नर्चरिंग नेबरहुड चैलेंज के तहत चुना गया है। कार्यक्रम के तहत इन शहरों के बच्चों, उनकी देखभाल करने वालों और परिवारों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाने का कार्य किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह चैलेंज 3 वर्ष का कार्यक्रम है और इसका उद्देश्य सरकार के स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत बचपन अनुकूल पड़ोस को समर्थन देना है।
नर्चरिंग नेबरहुड चैलेंज के उद्देश्य के बारे में उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने बताया कि भारत सरकार सभी कमजोर नागरिकों विशेषकर छोटे बच्चों के लिए शहरी क्षेत्रों में अवसरों को बढ़ाने के लिए संकल्पबद्घ है। चैलेंज का लक्ष्य भारतीय शहरों के नियोजन और प्रबंधन में बच्चों के विकास (0-5 वर्ष) के बच्चों पर ध्यान केंद्रित करना है। उपायुक्त ने कहा कि 3 वर्ष के इस कार्यक्रम के तहत चयनित शहर अपने प्रस्ताव, तैयारी तथा अपने संकल्प के आधार पर तकनीकी सहायता और क्षमता सर्जन सहायता प्राप्त करेंगे ताकि छोटे बच्चों के जीवन की गुणवत्ता बढ़ाने में विकास और समाधान योग्य कार्य किए जा सके। उन्होंने कहा कि रोहतक हरियाणा का एकमात्र ऐसा शहर है जिसे देश के 25 शहरों में इस कार्य के लिए चुना गया है।
बॉक्स :-
राहगिरी जैसे कार्यक्रमों का आयोजन जरूरी :- महेंद्रपाल
अतिरिक्त उपायुक्त महेंद्रपाल ने राहगिरी कार्यक्रम में पहुंचकर सभी प्रतिभागियों से मुलाकात की। बाद में मीडिया कर्मियों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि समाज के लिए राहगिरी जैसे कार्यक्रमों का आयोजन बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि कोरोना की वजह से पिछले लगभग डेढ वर्षों से इस तरह के आयोजन नहीं हो पा रहे थे। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम केवल बच्चों के लिए किया गया है ताकि वे एक दूसरे के संपर्क में आए और उनका चहुमुखी विकास हो सके। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि स्वच्छता में प्रत्येक नागरिक को अपना योगदान देना होगा ताकि रोहतक नंबर वन की स्थिति में आ सके। अतिरिक्त उपायुक्त ने यह भी कहा कि कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है, इसलिए कोविड-19 व्यवहार की अनुपालन हम सब को सुनिश्चित करनी होगी।
बॉक्स :-
खूब जमी मंच संचालकों की जोड़ी
राहगिरी कार्यक्रम में जहां सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से नागरिकों का खूब मनोरंजन किया गया वही मंच संचालकों की जोड़ी प्रदीप कुमार व डॉ संजय जाखड़ ने भी अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करते हुए दर्शकों को खूब हंसाने का काम किया। प्रदीप कुमार ने अपनी मिमिक्री के माध्यम से धर्मेंद्र की आवाज में शोले फिल्म का डायलॉग सुनाया, वही अमिताभ की आवाज में कालिया फिल्म के डायलॉग की प्रस्तुति दी। इसी प्रकार से उन्होंने सनी देओल के डायलॉग दर्शकों को सुनाएं।
बॉक्स :-
पैरा ओलंपिक को किया सम्मानित :-
राहगिरी कार्यक्रम में पैरा ओलम्पियन पूजा, विनोद मलिक, कर्म ज्योति व रिंकू हुड्डा को सम्मानित किया गया। इनके साथ-साथ सभी प्रतिभागी बच्चों को प्रमाण पत्र भी दिए गए।
बॉक्स :-
कार्यक्रम में नगर निगम के मेयर मनमोहन गोयल, अतिरिक्त उपायुक्त महेंद्र पाल, नगर निगम के संयुक्त आयुक्त सुरेश कुमार, नगराधीश ज्योति मित्तल, मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी शुभम चतुर्वेदी, फतेहाबाद के मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी रितेश कौल, हिसार के मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी कौस्तुभ लरूकुल, गुडगांव के मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी सुखदा वर्मा के अलावा सिविल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ रमेश चंद्र, उप सिविल सर्जन डॉ. केएल मलिक, जिला रेडक्रास सोसायटी के सचिव देवेंद्र चहल व समाजसेवी सुभाष गुप्ता सहित अनेक गणमान्य लोग मौजूद थे।
फोटो : 01 से 24
0 0 0 0 0 0 00 0 0 0








Source

Leave a Comment