सितंबर माह को पोषण माह के रूप में मनाया गया रोहतक, 30 सितंबर : उपायुक्त कैप्टन म…


सितंबर माह को पोषण माह के रूप में मनाया गया
रोहतक, 30 सितंबर : उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार के निर्देशानुसार जिला में सितंबर माह को पोषण माह के रूप में मनाया गया। इस माह के दौरान 16 से 29 सितंबर तक महिला एवं बाल विकास विभाग व आयुष विभाग द्वारा पोषण शिविरों का आयोजन किया गया। इस दौरान आंगनवाड़ी वर्करों तथा आंगनवाड़ी हैल्परो द्वारा अनेक प्रकार के पौष्टिक व्यंजनों की प्रदर्शनी लगाई गई। पोषण सम्बंधित फलों, सब्जियों व दालों से पौष्टिक रंगोली बनाई गई व हस्ताक्षर अभियान चलाया गया।
विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी बिमलेश कुमारी ने बताया कि विभागीय हिदायतों के अनुसार सितम्बर माह को जिला की सभी 1004 आंगनवाडी केन्द्रों में पोषण माह के रूप में मनाया गया। पोषण अभियान का संचालन जिला समन्वयक निहारिका द्वारा किया गया तथा पोषण माह के दौरान ब्लॉक स्तर पर गतिविधियां आयोजित करवाई गई। पोषण माह के दौरान कुपोषित व अति कुपोषित बच्चों की पहचान की गई तथा कुपोषित बच्चों की माताओं को उनकी देखभाल के लिए परामर्श दिया गया। आंगनवाड़ी केन्द्रों में शुरू की गई कीचन गार्डनिंग स्कीम के महत्व बारे लोगों को बताया गया।
पोषण माह के दौरान आंगनवाड़ी केन्द्रों में पोषण वाटिका की जागरूकता के लिए पौधारोपण अभियान चलाया गया, जिसके अंतर्गत वन विभाग से प्राप्त अनेक विभिन्न प्रकार के सिटरस पौधे विटामिन-सी से युक्त पौधे जैसे नींबू, मौसमी व संतरा आदि लगाये गये। आंगनवाड़ी केन्द्रों में हरी पतेदार सब्जियां उगाई गई, जिससे बच्चों को स्वच्छ व पौष्टिक आहार उपलब्ध करवाया जा सके। इस माह में गर्भवती महिलाओं और किशोरियों को अनीमिया को दूर करने के लिए जागरूक किया गया। गर्भवती व दूध पिलाने वाली माताओं की बैठके आयोजित कर 0 से 6 माह के बच्चों के लिए स्तनपान को बढावा दिया गया। आंगनवाडी वर्करों द्वारा पौष्टिक आहार बनाने की रैसीपी प्रतियोगिता की आयोजित गई।
फोटो : 14
0 0 0 0 0 0 0 0 0 0 0




Source

Leave a Comment