पंचकूला में कृषि विभाग का डाटा एंट्री ऑपरेटर तो फरीदाबाद सिविल अस्पताल में एलटी मिला पॉजिटिव

  • फरीदाबाद में अस्पताल की लैब दो से तीन दिन के लिए की गई बंद
  • पंचकूला में दिनभर दफ्तर को किया गया सैनिटाइज

पानीपत/फरीदाबाद. हरियाणा में कोरोना कहर लगातार जारी है। सोमवार को पंचकूला स्थित हरियाणा कृषि विभाग का डाटा एंट्री ऑपरेटर और फरीदाबाद सिविल अस्पताल में लैब टेक्नीशियन कोरोना पॉजिटिव मिला। इसके बाद दोनों जगह अफरा-तफरी का माहौल था। पंचकूला में पूरा दफ्तर सैनिटाइज करवाया गया तो फरीदाबाद में सिविल अस्पताल की लैब को दो से तीन दिन के लिए बंद कर दिया गया है।

कृषि विभाग के कर्मचारी हुए क्वारैंटाइन
विभाग ने स्वास्थ्य विभाग को पत्र लिखकर सभी कर्मचारियों के सैंपल लेने के लिए कहा है। वहीं नगर निगम के माध्यम से पूरे दफ्तर को सैनिटाइज करवाया गया। कोरोना पॉजिटिव मिले डाटा एंट्री ऑपरेटर के संपर्क में आने वाले कई कर्मचारी क्वारैंटाइन हो गए हैं। इससे पहले हरियाणा के खाद्य आपूर्ति विभाग में भी कर्मचारी कोरोना संदिग्ध मिले थे। कृषि विभाग के संयुक्त निदेशक जगराज ढांडी ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि विभाग की सभी शाखाओं को सैनिटाइज करवाया जा रहा है। सुरक्षा की दृष्टि से कई एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं।

फरीदाबाद सिविल अस्पताल को करवाया गया सैनिटाइज
फरीदाबाद के बादशाह खान सिविल अस्पताल में आईडीएसपी लैब टेक्नीशियन कोरोना पॉजिटिव मिला है। जिसके चलते उक्त लैब को 2 से 3 दिन के बंद कर दिया है। लैब के साथ-साथ अस्पताल को सैनिटाइज करवाया गया है। इस लैब में काम करने वाले अन्य डॉक्टरों व कर्मचारियों की भी कोरोना जांच होगी। संक्रमित एलटी को कोविड अस्पताल में भेज दिया गया है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों फरीदाबाद के कोविड-19 के लिए बनाए गए ईएसआई अस्पताल की लैब का 50 प्रतिशत स्टाफ संक्रमित हो गया था। जिसके चलते उक्त लैब को चार दिन के लिए बंद कर दिया गया था। इससे टेस्टिंग का काम प्रभावित हो गया था। हालांकि नया स्टाफ आने के बाद सोमवार से इस लैब में काम शुरू हो गया है परंतु जिस प्रकार से स्वास्थ्य कर्मचारी कोरोना की चपेट में आ रहे है, उसने स्वास्थ्य विभाग की चिताएं बढ़ानी शुरू कर दी है।