दूसरे राज्यों से आने वाले कामगारों के लिए रेल व बसों की व्यवस्था करने को तैयार सरकार, ग्राउंड रिपोर्ट आज पहुंचेगी सीएम के पास

चंडीगढ़। प्रधान सचिव राजेश खुल्लर के अनुसार कंपनियां, फैक्ट्रियां तथा उद्योग धंधे पहले जिस तरह से काम कर रहे थे, ठीक उसी तरह से अपना काम आरंभ कर सकते हैं। यहां तक कि स्लम बस्तियों में छोटे-मोटे काम करने वालों को भी अपने काम धंधे दोबारा शुरू करने की इजाजत सरकार या प्रशासन से लने की जरूरत नहीं है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में बताया कि यदि श्रमिक या कामगार अपने राज्यों से वापस हरियाणा आना चाहते हैं तो सरकार उद्यमियों के जरिये उन्हेंं लाने को हरसंभव मदद करने के लिए तैयार है। इसके लिए उद्यमियों को सरकार के समक्ष अनुरोध पत्र देना होगा।

चार जिलों की ग्राउंड रिपोर्ट आज पहुंचेगी सीएम के पास
सीएम के प्रधान सचिव ने बताया कि दिल्ली के साथ लगते जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल व सोनीपत में सरकार ने चार सीनियर आइएएस अधिकारियों को कोरोना की स्थिति का आकलन करने के लिए भेजा था। उन्हेंं वहां तीन दिन और दो रात रुककर स्थितियों का पता लगाने के लिए कहा गया। सरकार के पास तमाम ऐसे इंतजाम हैं कि यदि 15 जुलाई तक भी खराब स्थिति हो जाती है तो उसे संभालने में किसी तरह की दिक्कत नहीं आएगी। उन्‍होंने कहा कि इसके बावजूद चारों सीनियर आइएएस अधिकारी सोमवार तक मुख्यमंत्री को अपनी रिपोर्ट दे देंगे, जिसके आधार पर यह तय होगा कि सरकार को इन चारों जिलों में कोरोना से बचाव के लिए अपनी रणनीति में कोई बदलाव करना है या नहीं। इन रिपोर्ट के आधार पर यदि जरूरत पड़ी तो अस्पतालों में बेड, सुविधाएं, टेस्ट और वेंटीलेटर बढ़ाए जाएंगे।