रेस्टाेरेंट की टेबल पर नहीं दिखेगा मेन्यू कार्ड, एक दिन खाली रखने के बाद हाेगी रूम की दूसरी बुकिंग

  • बनभाैरी मंदिर के कपाट अभी नहीं खुलेंगे, धाम खुलने के बाद भी फाेन पर मिलेगा भक्तों को टाेकन
  • अग्राेहा और काजला धाम सहित जिले के सभी मंदिरों में श्रद्धालु आज से कर पाएंगे भगवान के दर्शन
  • रेस्टोरेंट और होटलों में 50 प्रतिशत कम लोग बैठकर कर सकेंगे भोजन

हिसार. 75 दिन बाद आज जिले में सभी रेस्टाेरेंट, मंदिर, माॅल व हाेटल खुल जाएंगे। शर्तों के साथ रेस्टोरेंट में बैठकर भाेजन पराेसने की छूट मिलेगी मगर इनके बीच पहले जैसा कुछ नहीं हाेगा। नियमाें के चलते एक तरफ जहां रेस्टाेरेंट की टेबल पर मैन्यू कार्ड नजर नहीं आएगा वहीं दूसरी तरफ मंदिराें में भी दूर से ही भगवान के दर्शन करने पड़ेंगे।

रेस्टाेरेंट में क्षमता से 50 प्रतिशत कम लाेग बैठकर भाेजन कर सकेंगे। वेटर व गार्ड भी मास्क व ग्लव्स पहनकर भाेजन पराेसते नजर अाएंगे। रेस्टाेरेंट खाेलने के लिए संचालकाें ने तैयारियां शुरू कर दी है। वहीं हाेटल संचालकाें का कहना है कि ग्राहक की सुरक्षा के साथ किसी प्रकार की लापरवाही नहीं की जाएगी।

मस्टर्ड हाेटल व रेस्टाेरेंट

  • फाइव स्टार हाेटल में प्रयाेग हाेने वाले मास्क व सेनेटाइजर मंगवाए गए हैं।
  • ऑनलाइन सिस्टम काम करेगा, रिसेप्शन पर खड़ा नहीं हाेना पड़ेगा।
  • एंट्री गेट पर गार्ड हर ग्राहक के हाथ सेनेटाइज व थर्मल जांच करेंगे।
  • हाेटल में एक बार बुकिंग के बाद रूम काे 24 घंटे बाद ही सेनेटाइज करके बुक किया जाएगा।
  • 50 प्रतिशत कम सीट के नियम है। मगर यहां 250 सीटाें में से केवल 75 सीटाें काे रखा है, ताकि हर टेबल के बीच उचित दूरी रहे।
  • पुराने सभी मैन्यू कार्ड काे बदलकर यूज एंड थ्राे मैन्यू कार्ड रखे हैं। जिनमें ग्राहक माेबाइल फाेन के कैमरे की मदद से क्यूआर काेड स्कैन करके ऑनलाइन ऑर्डर कर सकेंगे।
  • एक समय में एक फैमिली ही लिफ्ट में एंट्री कर सकेगी और हर बार लिफ्ट काे सेनेटाइज किया जाएगा।
  • रेस्टाेरेंट के हर दरवाजे खुले रहेंगे।

हाेटल लजीज

  • क्षमता के आधार पर सीटाें काे 88 से घटाकर 45 कर दिया है।
  • पुराने मैन्यू कार्ड की जगह डिजिटल मैन्यू कार्ड काम करेगा।
  • बुक रूम काे 72 घंटे के बाद दाेबारा बुक किया जाएगा।
  • इंट्री गेट पर गार्ड द्वारा हर ग्राहक के हाथ सेनेटाइज व थर्मल जांच की जाएगी।
  • रिसेप्शन काउंटर के बाहर सुरक्षा चक्कर बनाए हैं ताकि ग्राहक उचित दूरी पर खड़े हो सकें।

मंदिर काजला धाम

  • एक समय में पांच लोग ही एंट्री कर सकेंगे। गार्ड द्वारा हाथ सेनेटाइज व थर्मल जांच के बाद इंट्री होगी।
  • पुजारियाें द्वारा प्रसाद न लिया जाएगा व न दिया जाएगा।
  • बिना मास्क के मंदिर में प्रवेश नहीं कर सकेंगे।
  • मुख्य द्वार पर रस्सी बांधकर साेशल डिस्टेंसिंग नियम की पालना करवाई जाएगी।
  • मंदिर की सभी घंटियाें पर कपड़ा बांध दिया गया है।

लिखित आदेश पर खुलेगा बनभाैरी धाम: सुरेंद्र

मां भ्रामरी देवी शक्ति पीठ बनभाैरी धाम के मुख्य प्रबंधक सुरेंद्र काैशिक ने बताया कि बनभाैरी मंदिर के कपाट अभी नहीं खुलेंगे। जब तक प्रशासन की तरफ से हमारे पास लिखित में काेई अादेश नहीं अाता तब तक मंदिर बंद रहेगा। माता के दर्शन की अनुमति भी उन्हें ही दी जाएगी जाे डिस्ट्रिक एडमिनिस्ट्रेशन द्वारा जारी किए गए नियमाें का पालन करेंगे। प्रबंधन की तरफ से जल्द ही माेबाइल नंबर जारी किए जाएंगे। इन नंबराें पर काॅल कर हर राेज दर्शन के लिए एक तरह से टाेकन लेना हाेगा। एक दिन में केवल 100 से 200 लाेगाें काे दर्शन करने की अनुमति दी जाएगी। काेराेना के संक्रमण से बचाव के लिए जगह-जगह सेनेटाइजर हैंडवाॅश रखे जाएंगे। हर दस मीटर पर सेनेटाइजर अाैर मास्क रखे जाएंगे। तैयारियां वैसे पूरी हाे चुकी है।