दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर खत्म हुई पाबंदी, 75 दिन बाद गुड़गांव-फरीदाबाद को छोड़कर प्रदेशभर के धार्मिक स्थल खुले

  • दिल्ली सरकार ने 1 जून को बॉर्डर पर लगाई थी रोक
  • दिल्ली पुलिस ने सभी बॉर्डर पर लगी रोक हटाई

पानीपत. हरियाणा में अनलॉक-1 का 8वां दिन है। सोमवार को दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर पाबंदी खत्म हो गई। दिल्ली से लगते गुड़गांव, फरीदाबाद और बहादुरगढ़ की सीमाएं खोल दी गई है। दिल्ली पुलिस अब आन-जाने वालों की कोई चैकिंग नहीं कर रही है। दूसरी तरफ प्रदेश में 75 दिन के बाद गुड़गांव और फरीदाबाद को छोड़कर प्रदेशभर में धार्मिक स्थल खुल गए। हालांकि मंदिरों में भीड़ कम दिखाई दी।

दिल्ली बॉर्डर पर सामान्य रहा ट्रैफिक
दिल्ली बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस की रोक हट जान के बाद सोमवार को ट्रैफिक सामान्य रहा। बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस द्वारा लगाए गए बैरिकेड्स हटा दिए गए और किसी तरह की कोई रोक टोक भी नहीं हो रही है। इसलिए गुड़गांव बॉर्डर पर जाम भी नहीं है। बता दें कि रविवार को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने 1 सप्ताह के बाद दिल्ली बॉर्डर को खोलने का ऐलान किया था। इससे पहले मूवमेंट पास और आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को ही जाने दिया जा रहा था।

75 दिन बाद मंदिरों के कपाट खुले
प्रदेशभर में गुड़गांव और फरीदाबाद को छोड़कर सोमवार को 75 दिन बाद होटल, रेस्तरां, शॉपिंग सेंटर समेत कई आर्थिक गतिविधियों के साथ धार्मिक गतिविधियां भी शुरू हो गई। मंदिरों में कपाट खोल दिए गए। वहां सैनिटाइजर करना व मास्क लगाना अनिवार्य है। मंदिर में घंटी बजाने पर रोक है। हालांकि कंटेनमेंट जोन में 30 जून तक लॉकडाउन ही रहेगा। वहां सिर्फ आवश्यक सेवाओं को छोड़कर बाकी सभी प्रकार की गतिविधियों पर रोक रहेगी। प्रदेश में अभी 649 कंटेनमेंट जोन हैं।

होटल सुबह 9 से रात 8 बजे तक खुलेंगे

  • होटल: सुबह 9 से रात 8 बजे तक खुलेंगे। आने वालों के लिए मास्क जरूरी। क्षमता के सिर्फ 50% लोग बैठ सकेंगे। बफे सर्विस पर प्रतबंध होगा। डिजिटल पेमेंट होगी। कॉन्टैक्टलेस चेक-इन व चेक-आउट की व्यवस्था करनी होगी। बार की अनुमति नहीं होगी। कमरों में रखने से पहले सामान सैनिटाइज किया जाएगा।
  • रेस्तरां: रेस्तरां में बैठकर खाने के बजाय टेक अवे को बढ़ावा देंगे। होम डिलीवरी करने वाला स्टाफ पैकेट दरवाजे पर रखेगा। एंट्री गेट पर थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था हाेगी। 50 प्रतिशत क्षमता के साथ संचालन होगा।
  • धर्मस्थल: बिना मास्क पूजा-स्थल में प्रवेश नहीं मिलेगा। मूर्तियों-ग्रंथों को नहीं छुएंगे। घंटियां नहीं बजा सकेंगे। बैठकर पूजा करने के लिए श्रद्धालु अपने घर से ही चटाई लेकर आएंगे। सामूहिक आरती, भजन, सामूहिक सभा और प्रार्थना की अनुमति नहीं रहेगी। प्रसाद, जल छिड़कने पर राेक। राज्य में लंगर या अन्न-दान किया जा सकता है, लेकिन मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी।
  • शॉपिंग मॉल: एसी 24-30 डिग्री, ह्यूमिडिटी 40-70% रखनी होगी। एलिवेटर में लोगों की सीमित संख्या तय करनी होगी। फूड काेर्ट में आधी से ज्यादा सीटों पर नहीं बैठाया जाएगा। गेमिंग आर्केड, चिल्ड्रन प्ले एरिया और सिनेमा हॉल बंद रहेंगे। मास्क पहनना व सोशल डिस्टेंसिंग रखना अनिवार्य है।
  • बैंक्वेट हॉल: एक समय में अधिकतम 50 मेहमान ही ठहर सकेंगे। मास्क पहनना व सोशल डिस्टेंसिंग व सैनिटाइजर जरूरी।