विदेश से लौटे छात्रों ने शराब और धूम्रपान की डिमांड की, समझाइश और सख्ती के बाद माने

  • छात्रों के सैंपल भी लिए गए, सेंटर में रुके हैं 18 विद्यार्थी

रेवाड़ी. दिल्ली जयपुर हाईवे स्थित हेरिटेज हवेली होटल को प्रशासन ने विदेश से वंदे भारत अभियान के तहत लाए जा रहे विद्यार्थियों के लिए क्वारेंटाइन सेंटर बनाया हुआ है। अभी यहां 18 विद्यार्थी ठहरे हुए हैं। सेंटर के मेडिकल इंचार्ज डॉ विजय डबास ने बताया कि सभी स्टूडेंट्स की सैंपलिंग नियम अनुसार की गई है।

इन सभी की रिपोर्ट 2 से 3 दिन में आ जायेगी

डॉ.विजय डबास ने बताया कि यह सभी अब क्वारेंटाइन सेंटर के माहौल में एडजस्ट हो गए हैं। शुरू के एक दो दिन इन स्टूडेंट्स ने काफी परेशानी खड़ी की थी और नियमों का उल्लंघन किया गया था। थोड़े समझने और थोड़ी सख्ती से अब एडजस्ट हो गए हैं। इन्हें बता दिया था कि यह होस्टल नही है क्वारेंटाइन सेंटर है, डॉ डबास ने बताया कि सेंटर में धूम्रपान निषेध है। अल्कोहल व अन्य कोई भी ड्रग वर्जित और दंडनीय है। बाहर या घर का खाना भी वर्जित है और किसी भी फैमिली मेंबर का सेंटर में आना निषेध है। इनको मिनिमम 7 दिन रहना है फिर 7 दिन होम क्वारेंटाइन रहना होगा। डॉ डबास ने इन बच्चो के पेरेंट्स को भी संयम बरतने की सलाह दी। कुछ बच्चो के पेरेंट्स ने अनावश्यक रूप से फोन करवा कर या सेंटर में आने की कोशिश कर व्यस्था बिगड़ने का काम भी किया है।