गिरफ्तार आरोपियों की अब कोर्ट में वीडियो कांफ्रेंसिंग से पेशी कराएगी पुलिस, जज ने हिरासत के आदेश दिए ताे पहले स्पेशल जेल में रखेंगे

रोहतक. काेराेना वायरस के बढ़ते खतरे के बीच अब पुलिस की अाेर से काेर्ट को इस संक्रमण से मुक्त रखने की दिशा में कदम उठाए जा रहे हैं। आपराधिक मामलों में काबू शख्स के कोरोना टेस्ट के बाद ही उनकी कोर्ट में पेशी के फैसले के बाद पुलिस ने अब बंदियों को कोर्ट में सीधे न ले जाने का फैसला किया है। अब विभिन्न प्रकार के आपराधिक मामलों में गिरफ्तार लोगों की कोर्ट में पेशी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कराई जा रही है। इसके लिए पुलिस की ओर से जिले में दो वीसी सेंटर बनाए गए है।

इनमें एक सेंटर पुलिस लाइन और दूसरा सेंटर महम में बनाया गया है। आरोपी को पकड़ने के बाद पुलिस वीसी सेंटर में पहुंचकर वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए जज के सामने आरोपी को पेश कर रही है। जज के आदेश के बाद मामले का जांच अधिकारी कोर्ट पहुंचकर कागज कार्रवाई पूरी करेगा। पुलिस अधिकारियों के अनुसार भी सुनारियां जेल में भी एक स्पेशल जेल बना दी गई। जहां पर आरोपियों को कोरोना रिपोर्ट आने तक जेल में बंद रखा जाता है। रिपोर्ट आने के बाद जेल में बंद किया जाता है। फिलहाल शुक्रवार से ही जिला पुलिस में इस व्यवस्था को लागू कर दिया गया है। अब तक दर्जन भर से ज्यादा मामलों में वीसी से आरोपियों की पेशी हो चुकी है।

फैसला इसलिए लिया क्योंकि गिरफ्तारी के बाद 4 आरोपी मिले थे कोरोना पॉजिटिव
कोर्ट में अब गिरफ्तार आरोपियों की पेशी वीडियो कांफ्रेस के माध्यम से कराने का फैसला कोर्ट और पुलिस की ओर से बेहद अहम माना जा रहा है। दरअसल इस फैसले के पीछे बड़े खतरे का अंदेशा था। पिछले कुछ दिनों में पुलिस की ओर से गिरफ्तार किए 4 आरोपियों के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई थी। इनकी रिपोर्ट मिलने से पहले ही कोर्ट में पुलिस इनकी पेशी करा चुकी थी।

मॉडल टाउन चौकी, सांपला थाना, पीजीआई थाना, शिवाजी कॉलोनी पुलिस द्वारा अलग अलग मामलों में पकड़े गए महिला समेत चार आरोपी कोरोना पॉजिटीव मिल चुके है। मॉडल टाउन पुलिस चौकी के सभी पुलिस कर्मियों समेत अन्य थानों के स्टाफ को कॉरेंटाइन करना पड़ा था। ऐसे में अब पुलिस आरोपियों को पूरी एहतियात बरतनी पड़ रहा है। वहीं सूत्रों की मानें तो जिन कोर्ट में आरोपियों को पेश किया था जज समेत पूरा स्टाफ क्वॉरेंटाइन करना पड़ा था।

कोरोना के खतरे को देख जिला अदालत व पुलिस ने की नई व्यवस्था, जिले में दो वीसी सेंटर बनाए

सुनारियां जेल में बनाई स्पेशल जेल
चारआरोपियों के कोरोना पॉजिटीव मिलने के बाद सुनारियां जेल परिसर के अंदर ही एक अलग जेल बनाई गई है। इसमें जेल में जाने वाले हर आरोपी की कोरोना रिपोर्ट आने के तक रखा जाता है। स्पेशल जेल में बंद आरोपियों के लिए सोशल डिस्टेंसिंग समेत तमाम तरह की व्यवस्था की गई है, जिससे वे कोरोना जैसी महामारी से बच सके।

कोरोना महामारी को लेकर अब आरोपियों को कोर्ट में पेश करने की बजाए जज के सामने वीसी से पेश किया जात है। पुलिस लाइन और महम में दो वीसी सेंटर बनाए गए है। इन सेंटर में पहुंचकर पुलिस आरोपियों को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए अदालत के सामने पेश कर रही है।
-गोरखपाल राणा, डीएसपी हेड क्वार्टर, रोहतक।