सब्जी मंडी में नए नियम बने आढ़तियों के गले की फांस, 60 साल के आढ़तियों व किसानों को भी नहीं मिला प्रवेश

  • आढ़ती बोले-रोहतक व झज्जर की तरह खुले बहादुरगढ़ की मंडी, किसानों का सुबह 4 से 5 बजे का समय बढ़ाने की मांग

बहादुरगढ़. सब्जी मंडी खोलने के लिए बनाए गए नियम अब आढ़तियों के गले की फांस बनते जा रहे हैं। आढ़तियों का कहना हैं कि मार्केट कमेटी के द्वारा बनाए गए नियम उनके व्यापार पर आर्थिक असर डाल रहे है। जिससे उन्हें लगातार नुकसान हो रहा है। आढ़तियों की माने तो कोरोना से बचाव को लेकर 65 साल के व्यक्ति मंडी में प्रवेश नहीं कर सकते, लेकिन कई आढ़ती, दुकानदार व रेहड़ी वालों की आयु 60 साल है जिन्हें मंडी में प्रवेश नहीं दिया जा रहा और न ही उनके पास बनाए जा रहे हैं। वहीं मंडी में किसानों के आने का समय सुबह 4 से 5 बजे रखा गया है। 5 बजते ही किसानाें काे पुलिस मंडी में प्रवेश नहीं करते देती। ऐसे में किसानाें काे सब्जी लेकर वापस लौटना पड़ा रहा हैं।

शुक्रवार को भी कुछ किसानों और रेहड़ी वालो को वापस लौटा दिया गया। आढ़ती राजेश, तेजपाल, कृष्ण, बालकिशन और भूपेंद्र ने बताया कि प्रशासन को नियम बनाते समय दुकानदारों से भी बात करनी चाहिए थी। उन्होंने बताया कि सरकार ने किसान को अपनी सब्जी बेचने के लिए पूरी छूट दी गई है। किसान कहीं भी किसी भी समय और किसी भी कीमत पर अपनी सब्जी बेच सकता है। फिर इस तरह के नियम क्यों बनाए गए है। वहीं आढ़तियों ने मांग की कि बहादुरगढ़ की सब्जी मंडी को भी रोहतक और झज्जर की तरह खोला जाना चाहिए। किसानाें ने मार्केट कमेटी से मांग की है कि सुबह किसानाें के मंडी में आने का समय 5 बजे से ज्यादा बढ़ाने की मांग की हैं।

आढ़तियाें के संक्रमित हाेने से मंडी काे किया था बंद : गौरतलब है कि शहर की सब्जी मंडी करीब 35 दिन बाद गुरुवार को खुली थी, लेकिन पहले दिन आढ़तियों की सब्जी नहीं बिक पाई थी। सब्जी खरीदने के लिए आए रेहड़ी वालो को पास न जारी होने के कारण उन्हें मंडी में जाने नहीं दिया गया था। ऐसे में आढ़ती अपनी दुकानों के बाहर ही सब्जी लेकर बैठे रहे। आढ़तियों का कहना था कि मंडी बंद होने से वे पहले परेशान थे, लेकिन गुरुवार को जब मंडी खुली तो मार्केट कमेटी ने रेहड़ी वालों को पास ही नहीं जारी किए। पुलिस ने उन्हें अंदर प्रवेश नहीं दिया। गौरतलब है कि आढ़तियाें के कोरोना संक्रमण की चपेट में आने से 29 अप्रैल को सब्जी मंडी बंद कर दी गई दी। अब गुरुवार को नए नियमों के हिसाब से 35 दिन बाद मंडी को खोला गया था।

ये हैं नए नियम

  1. नए आदेशों के तहत मंडी में दुकानों को खोलने के लिए ओड इवन फॉर्मूला लागू किया गया है।
  2. केवल पासधारक आढ़ती, रिटेलर और रेहड़ी वाले ही मंडी में प्रवेश कर सकेंगे।
  3. आम लोगों के लिए अभी मंडी बंद रहेगी।
  4. मास्क और सेनिटाइज का पूरा ध्यान रखना होगा।
  5. आजादपुर मंडी, दिल्ली और नूह से फल और सब्जी मंगवाने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश है।
  6. मंडी में सब्जी उतरवाने के लिए सुबह 4 से 5 बजे और मंडी खुलने का समय 5 से 10 बजे तक रखा गया है।
  7. मंडी में 65 साल से ज्यादा और 10 साल से कम उम्र वालों का प्रवेश प्रतिबंधित किया गया है।

जांच पड़ताल के बाद ही बनाए जा रहे हैं पास
मंडी के आढ़तियों व दुकानदारों को ध्यान में रख कर और कोरोना से बचाव को लेकर ही ये नियम बनाए गए हैं। वहीं पूरी जांच पड़ताल के बाद ही सभी पास बनाए जा रहे है। जिससे किसी को परेशानी न हो। एक दो दिन में मंडी का संचालन सुचारु हो जाएगा।
उमेश डांगी, सचिव, मार्केट कमेटी।