ढाणी फैजाबाद, आकोदा, चामधेड़ा, बायल के 4 मरीज ठीक होने के किए गए बाद डिस्चार्ज

नारनौल. जिला में शुक्रवार को 75 वर्षीय वृद्ध सहित चार लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। चारों नए कोरोना संक्रमितों को आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज पटीकरा में शिफ्ट किया गया। अब जिला में कोरोना पॉजिटिव की कुल संख्या 77 हो गई है। इनमें से 36 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं। यह जानकारी देते हुए सिविल सर्जन डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि शुक्रवार कोरोना संक्रमित ढाणी फैजाबाद, आकोदा, चामधेड़ा-देवनगर व बायल के मरीजों की सैंपल रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया है। जिला में कोरोना के 41 केस अभी भी एक्टिव है।
सिविल सर्जन ने बताया कि 5 मोबाइल टीमों ने 488 लोगों की स्क्रीनिंग की है। इनमें से 264 मरीजों में सामान्य बीमारी मिली है। जिले में 5 जून तक 63491 नागरिकों की स्क्रीनिंग की गई है। इनमें से 37459 मरीजों में सामान्य बीमारी पाई गई है। उन्होंने बताया कि कोविड-19 के लिए अब तक जिले से 3961 सैंपल भेजे गए हैं। इनमें 365 सैंपल की रिपोर्ट आनी शेष है।

कोरोना पाॅजिटिव एक युवती दवाई देने आई थी बुजुर्ग के घर
नारनौल के गांव ढाणी फैजाबाद में शुक्रवार को 75 वर्षीय एक बुजुर्ग की कोरोना पाॅजिटिव रिपोर्ट आयी है। पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने बुजुर्ग को आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज पटीकरा में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में दाखिल करवा दिया है। कोरोना पॉजिटिव यह बुजुर्ग दमा एवं शुगर की बीमारी से ग्रस्त है। इस बुजुर्ग के कोरोना ग्रस्त होने बारे पड़ताल करने पर पता चला है कि पीड़ित बुजुर्ग कई दिनों से दमा व शुगर का पेशेंट है तथा अपने घर पर ही रहता है। करीब 15 दिन पहले स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत ढाणी फैजाबाद की कोरोना पाॅजिटिव एक युवती दवाई देने बुजुर्ग के घर गई थी।

बाद में युवती की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने पर स्वास्थ्य विभाग ने उसे मेडिकल काॅलेज झज्जर भेज दिया था। 30 मई को बुजुर्ग की तबियत बिगड़ने पर परिजन उसे अस्पताल लेकर आए थे। जहां चिकित्सकों ने बुजुर्ग का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा था। आज बुजुर्ग की आयी जांच रिपोर्ट कोरोना पाॅजिटिव निकली है। इससे पता चलता है कि कोरोना पाॅजिटिव युवती के आवागमन से ही बुजुर्ग इस बीमारी की चपेट में आया है।

गुरुग्राम मारुति कंपनी में काम करने वाला युवक 27 मई को अपने गांव पाल में आया था। जिसको स्वास्थ्य विभाग नांगल सिरोही ने घर पर ही कवारेनटाइन किया था। वह एकांतवास में रह रहा था। उसने 31 मई को नागरिक अस्पताल नारनौल में अपना कोरोना टेस्ट करवाया था। जिसकी 5 जून को रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

गुड़गांव से पाल गांव आया युवक मिला संक्रमित
पाल गांव में कोरोना पॉजिटिव केस की सूचना मिलने पर सीएचसी नांगल सिरोही के एस एम ओ डॉक्टर रामनिवास के आदेशानुसार 5 जून को दोपहर में स्वास्थ्य निरीक्षक पवन भारद्वाज के नेतृत्व में गांव पाल के लोगो के स्वास्थ्य जांच करवाने के लिए टीम का गठन किया। स्वास्थ्य विभाग की इस टीम में स्वास्थ्यकर्मी कृष्ण कुमार,निर्मला देवी, रीना आशा वर्कर ने गांव पाल के कंटेनमेंट जॉन में घर घर जाकर 18 घरों के 113 सदस्यों की स्क्रीनिंग की।और कंटेनमेंट जोन में पॉजिटिव केस के संपर्क में आने वाले परिवार की हिस्ट्री लेकर 5 सदस्यों को क्वारेंटाइन किया। स्वास्थ्य विभाग की टीम कंटेनमेंट जॉन में घर घर जांच करते वक्त सभी ग्रामीणों को अपने घरों में रहने,मुँह पर मास्क लगाने,ओर सोशल डिस्टेन्स को बनाये रखने के बारे में बताया ।

इसके साथ साथ गरम पानी पीने, गरम दूध में हल्दी अदरक डालकर पीने,व विटामिन सी युक्त फल जैसे संतरा,मौसमी,अनानास, निम्बू आदि का सेवन करने की सलाह दी गईं । दिन में एक बार गिलोय,काली मिर्च, इलाइची,तुलसी ओर गुड का काढ़ा बनाकर पीने के बारे में बताया।खांसी जुखाम,बुखार ,गले मे खरास या दर्द होने पर तुरंत अस्पताल में जांच करवाएं ओर डॉक्टर से परामर्श ओर इलाज ले ।इस कार्य मे ग्राम पंचायत और सभी ग्रामीणों ने पूरा सहयोग किया व स्वास्थ्य विभाग नांगल सिरोही की टीम का आभार व्यक्त किया।