कोविड-19 जिलास्तरीय प्रबंधन के लिए बनाई 781 कमेटी, घर-घर जाकर किया जाएगा सर्वे

  • प्रशासन की विशेष कार्ययोजना पर काम शुरू

नारनौल. कोरोना वायरस से लड़ाई लड़ने के लिए अब प्रशासन ने पूरे जिले को कई सेक्टरों में बांटकर वहां कमेटियों का गठन किया है। इस योजना के तहत जिले में 13 जोन बनाए गए हैं। उसके बाद 113 सेक्टर बनाते हुए उसमें 781 यूनिट कमेटियां गठित की है। इन यूनिट कमेटी या लोकल कमेटी में बीएलओ, आशा वर्कर, आंगनबाड़ी वर्कर तथा सामाजिक कार्यकर्ता को शामिल किया गया है। जिले में ऐसी 781 कमेटी अब शहरों तथा गांवों में घर-घर जाकर सर्वे करेगी।

हरियाणा टूरिज्म के एमडी एवं कोविड-19 के नोडल अधिकारी विकास यादव ने शुक्रवार को लघु सचिवालय में कोविड-19 जिलास्तरीय प्रबंधन कमेटी की बैठक ली। इस बैठक में उपायुक्त जगदीश शर्मा भी मौजूद रहे। कोविड-19 के नोडल अधिकारी विकास ने निर्देश दिए कि कोरोना वायरस को लेकर अब हमें पहले से भी अधिक मेहनत करने की जरूरत है।

जिले में लगातार कोविड-19 के संक्रमित की संख्या बढ़ रही है। अब जिला प्रशासन को एक साथ कई स्तर पर काम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि गांवों व शहरों में ठीकरी पहरे सुनिश्चित करें तथा समय-समय पर अधिकारी चेक करें। जिले के सभी सरपंच व पंचों की यह जिम्मेदारी है कि वे अपने गांवों में ठीकरी पहरा ठीक से लगवाना सुनिश्चित करें। शहरों में प्रधान व पार्षद अपने-अपने क्षेत्रों में ठीकरी पहरे लगातार जारी रखेंगे।

बच्चे-बूढ़े और बीमार पर भी रहेगा इनका फोकस
जिले में ऐसी 781 कमेटी हैं जो शहरों तथा गांवों में यह सर्वे करेंगी। यह कमेटी घर-घर जाकर सर्वे करेगी। उन्होंने बताया कि यह कमेटी सर्वे के दौरान वृद्ध व बच्चों व बीमार लोगों की भी निगरानी करेगी। इसके बाद 113 सेक्टर कमेटी हैं जिनमें तैनात अधिकारी इन पर निगरानी रखेंगे। इसी प्रकार 13 जोनल कमेटी हैं जो सेक्टर कमेटी के कार्य पर नजर रखेगी। जिला स्तर पर इस कमेटी के अध्यक्ष उपायुक्त हैं तथा एडीसी इसके सदस्य सचिव हैं, जो जिले की सारी कार्यवाही को देखेंगे। उन्होंने कहा कि इस सर्वे का आंकड़ा एकदम सटीक होना चाहिए। अब देश में कई राज्यों में कोविड-19 के संक्रमित मरीजों की संख्या बहुत अधिक है। ऐसे में जरूरी है कि इस जिले में आने वाले नागरिकों की हर रोज की रिपोर्ट प्रशासन को होनी चाहिए ताकि उनकी निगरानी तथा टेस्ट समय पर किया जा सके।

8 जून को होगी वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग
डीसी जगदीश शर्मा ने 8 जून को होने वाली वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के संबंध में भी अधिकारियों के साथ बैठक की। प्रधान सचिव के साथ होने वाली इस काॅन्फ्रेंस में विभिन्न स्तर की कमेटियों का आंकड़ा मांगा जाएगा। इसके लिए संबंधित अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए। इस बैठक में एसपी सुलोचना गजराज, एसडीएम महेंद्रगढ़ विश्राम कुमार मीणा, एसडीएम नारनौल मनीष फौगाट, एसडीएम कनीना रणबीर सिंह, सीईओ जिला परिषद लक्ष्मीनारायण तथा सीएमओ डॉ. अशोक कुमार के अलावा अन्य अधिकारी मौजूद थे।

बाहर से आने वालों पर रखें नजर
विकास यादव ने कहा कि अब यहां से बाहर जाने वालों का दौर पूरा हो चुका है। अब अन्य राज्यों से यहां के मूल निवासी वापस आ रहे हैं। ऐसे सभी नागरिकों की निगरानी करना तथा उन्हें घरों में एकांतवास में रहने के निर्देश जरूरी हैं। इस काम के लिए यूनिट कमेटी हर रोज ऐसे लोगों की पूरी जानकारी निर्धारित प्रफोर्मा में जिला प्रशासन को उपलब्ध कराएगी। यूनिट कमेटी या लोकल कमेटी में बीएलओ, आशा वर्कर, आंगनबाड़ी वर्कर तथा सामाजिक कार्यकर्ता शामिल हैं।