जिले में अब तक 74 पॉजिटिव केसों में से 27 ठीक हो गए, 45 केस एक्टिव हैं, दो की मौत हुई

करनाल. घरौंडा | क्षेत्र के कोरोना संक्रमित मरीजों के आंकड़े में प्रतिदिन बढ़ोतरी हो रही है। शहर की बालाजी कॉलोनी में कोरोना मरीज मिलने के बाद कनटेनमेंट व बफर जोन के लोगों की मेडिकल जांच की जा रही है। स्वास्थ्य जांच का जिम्मा संभाल रही आशा वर्करों को उच्च गुणवत्ता के अनुसार मास्क नहीं दिए गए हैं। लिहाजा आशा वर्कर चुन्नी से मुहं लपेट कर डोर-टू-डोर कंटेनमेंट जोन में जांच करने को मजबूर हैं। शहर के पनौड़ी रोड स्थित बालाजी काॅलोनी के 29 वर्षीय युवक को कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने पर प्रशासन हरकत में आ गया और संबंधित इलाके की दो गलियों काे कनटेनमेंट जोन घोषित किया है। स्वास्थ्य विभाग की छह टीमें काॅलोनी के घर-घर जाकर लोगों की जांच कर रही है। बालाजी काॅलोनी व आर्य नगर में छह आशा वर्कर व 3 स्वास्थ्यकर्मी लोगों की स्क्रीनिंग कर रहे हैं।

आशा वर्कर कर रही हैं मेडिकल जांच

एसएमओ मुनेश गोयल ने कहा कि कंटेनमेंट जोन में आशा वर्कर मेडिकल जांच कर रही है। मास्क के बजाए दुपट्टा लेडिज के लिए ज्यादा कंफर्टेबल रहता है। गर्मी में मास्क लगाने में दिक्कत होती है, इसलिए लगातार काम करने के लिए दुपट्टे में सुविधा रहती है। कनटेनमेंट जोन में काम करने के लिए एन-95 मास्क की आवश्यकता नहीं है।