होम क्वाॅरेंटाइन वाले व्यक्ति से घबराने की जरूरत नहीं, सावधानी बरतें और अपनी जिम्मेदारी निभाएं

  • डीसी ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षात्मक बैठक में विभिन्न पहलुओं पर की चर्चा

झज्जर. डीसी जितेंद्र कुमार ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए अब सभी को मिलकर अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करना होगा। तभी कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोका जा सकता है। सरकार की ओर से अनलॉक-1.0 की प्रक्रिया जन सहयोग के लिए अपनाई गई है। ऐसे में सावधानी बरतते हुए ही अपने घरों से बाहर आमजन को निकलना चाहिए। स्वास्थ्य विभाग की ओर से निरंतर सैंपलिंग की जा रही है। लोगों को महामारी से बचाव के लिए जागरूक किया जा रहा है।

डीसी स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षात्मक बैठक करते हुए विभिन्न पहलुओं पर चर्चा कर रहे थे। उन्हाेंने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से कुछ लोगों को होम क्वाॅरेंटाइन किया जा रहा है। कोरोना के संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए ही संक्रमित मरीज के संपर्क में आने वाले व्यक्ति को होम क्वाॅरेंटाइन किया जाता है। इसलिए होम क्वाॅरेंटाइन व्यक्ति से जरा सी भी घबराने की जरूरत नहीं है। घर में सिर्फ कुछ सावधानियों को अपनाना होगा।

होम क्वाॅरेंटाइन संक्रमण के फैलाव काे रोकना एक उपाय : सिविल सर्जन ने कहा कि होम क्वाॅरेंटाइन वाले व्यक्ति के लिए घर में अलग से शौचालय की व्यवस्था का प्रबंध किया जाना चाहिए। परिवार का कोई भी सदस्य संबंधित व्यक्ति की किसी भी वस्तु को न छूए। परिवार के सदस्यों को संक्रमित व्यक्ति के कमरे में बार-बार संपर्क में आने वाली वस्तुओं जैसे बिजली के स्वीच, दरवाजे के हैंडल आदि को बार-बार सेनिटाइज भी करना चाहिए। उन्होंने कहा कि होम क्वाॅरेंटाइन सिर्फ संक्रमण के फैलाव को रोकने का एक जरिया है। इसमें सभी को सहयोग करना चाहिए।

होम क्वाॅरेंटाइन वाले व्यक्ति से दूरी बनाना जरूरी : सिविल सर्जन डाॅ. रणदीप पूनिया ने बताया कि डब्लयूएचओ की गाइडलाइंस के अनुसार कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए होम क्वाॅरेंटाइन किया जाता है। ऐसे व्यक्ति को एक कमरे में रखा जाता है। होम क्वाॅरेंटाइन वाले व्यक्ति को हमेशा मास्क लगाकर रहना चाहिए। घर में बच्चों और बुजुर्गों व गर्भवती महिलाओं को होम क्वाॅरेंटाइन व्यक्ति के संपर्क में आने से बचना होगा।

संक्रमित व्यक्ति को खाने से पहले बार-बार अपने हाथों को साबुन से धोना होगा। होम क्वाॅरेंटाइन वाले व्यक्ति के बर्तन व निजी सामान परिजनों से बिल्कुल अलग होना चाहिए। इस व्यक्ति को बीड़ी, सिगरेट व गुटखे का सेवन नहीं करना चाहिए। परिजनों को विशेष ध्यान देना होगा कि संबंधित व्यक्ति के कमरे में परिवार का एक ही सदस्य जाए, वह भी दूरी बनाकर रखें। परिवार का यह सदस्य कमरे से बाहर आने के बाद अच्छी तरह से अपने हाथों को 20 सेकंड तक साबुन से धोएं।