हरियाणा में 1 जुलाई से स्कूल खोलने की तैयारी, पहले 9वीं से 12वीं तक के छात्र आएंगे

  • स्कूल खाेलने की दिशा में देश में पहला फैसला
  • 4 हफ्तों के लिए नया कैलेंडर हरियाणा बोर्ड ने दी जानकारी

पानीपत. हरियाणा सरकार 1 जुलाई से स्कूल खाेलने की तैयारी में जुट गई है। अनलाॅक-1 में स्कूल खोलने का फैसला लेने वाला हरियाणा पहला राज्य है। स्कूल खोलने की प्रक्रिया तीन चरणों में पूरी हाेगी।

पहले 9वीं से 12वीं तक की कक्षाएं लगेंगी। दूसरे चरण में छठी से 8वीं और तीसरे चरण में पहली से 5वीं तक की कक्षाएं शुरू की जाएंगी। स्कूल खोलने को लेकर हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने बुधवार काे अधिकारियों के साथ चर्चा की। सभी स्कूल खोलने से पहले चार-पांच स्कूल खोलकर काेराेना संक्रमण से बचने के उपायाें की रिहर्सल भी की जाएगी।

गुर्जर ने बताया कि जिलों में शिक्षा अधिकारियाें, अध्यापकाें व अभिभावकाें की कमेटियाें से 7 जून तक सुझाव मांगे गए हैं। स्कूल खाेलने में इनका पूरा ध्यान रखा जाएगा। स्कूलों में बच्चों के लिए मास्क अनिवार्य किया जाएगा। शिक्षा विभाग ने स्कूल खोलने के लिए अलग-अलग प्लान तैयार किए हैं। एक दिन में 50% बच्चों को ही बुलाने की याेजना बनाई गई है। दूसरी याेजना यह है कि आधे-आधे बच्चाें काे बुलाकर स्कूल दो शिफ्टों में लगाए जाए, ताकि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो सके। उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार ने अनलाॅक-1 की गाइडलाइंस में स्कूल-काॅलेजाें काे दूसरे चरण में रखा था। इन्हें खाेलने की तारीख पर जुलाई में ही फैसला लेने की बात कही गई थी।

केंद्र ने 11वीं व 12वीं के स्टूडेंट्स की पढ़ाई के लिए नया कैलेंडर जारी किया

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कक्षा 11वीं व 12वीं के छात्रों के लिए भी वैकल्पिक कैलेंडर जारी किया है। नए कैलेंडर के अनुसार, विद्यार्थी घर बैठे योजनाबद्ध तरीके से पढ़ाई कर सकेंगे। इसमें विद्यार्थियाें व शिक्षकों की सुविधा का ध्यान रखा है। इस कैलेंडर के माध्यम से शिक्षक अलग-अलग तकनीकों व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए बच्चों को अभिभावकों की देखरेख में ही पढ़ा सकेंगे। फिलहाल यह कैलेंडर 4 हफ्तों का है।

10वीं का रिजल्ट 8 जून को, 12वीं की बची परीक्षाएं 1 से 15 जुलाई तक होगी
भिवानी | हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड 10वीं कक्षा का परीक्षा परिणाम 8 जून को जारी करेगा। जबकि 12वीं की बची परीक्षाएं 1 से 15 जुलाई तक होंगी। यह जानकारी बोर्ड के चेयरमैन डॉ. जगबीर सिंह ने बुधवार को दी। उन्होंने बताया कि 10वीं की विज्ञान की परीक्षा के अंक एवरेज के आधार पर दिए जाएंगे। हालांकि, जो बच्चे 11वीं में साइंस लेना चाहते हैं, उन्हें साइंस की परीक्षा देनी होगी। परीक्षाओं संबंधी जानकारी विद्यार्थियों को 10 दिन पहले दे दी जाएगी।