सरपंच की धमकी के बाद व्यक्ति की संदिग्ध मौत, हत्या का मुकदमा दर्ज

  • मृतक की पत्नी ने डीएसपी को शिकायत देकर पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने का लगाया आरोप

रेवाड़ी. कोसली थाना क्षेत्र के गांव जखाला में कथित तौर पर नरेगा में जेसीबी से मिट्टी खुदाई को लेकर हुई कहासुनी के पश्चात एक व्यक्ति की संदिग्ध मौत हो गई। पुलिस द्वारा घटना के संबंध में हत्या एवं एससी-एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज करने के बाद 20 दिन बाद भी कोई कार्रवाई नहीं किए जाने पर पत्नी ने डीएसपी को शिकायत दी है। शिकायत में पीड़िता ने मामला दर्ज होने के बाद भी अभी तक कार्रवाई नहीं करने पर कोसली पुलिस पर सवाल खड़े किए हैं।

गांव जखाला निवासी अलका देवी ने डीएसपी को दी शिकायत में बताया कि 16 मई को सुबह के सम गांव निवासी मोनू उसके पति सुरेश कुमार को किसी काम की बात कहते हुए बुलाकर ले गया था। दोपहर करीब 3 बजे उन्हें गांव निवासी एक युवक ने सूचना दी कि सुरेश खेत की डोल पर घायल अवस्था में पड़ा हुआ है। इसके बाद जब वह अपने जेठ के साथ पहुंची तो उसका पति सड़क से लगभग दस फीट अंदर पड़ा हुआ था और बाइक एक तरफ खड़ी हुई थी।

इसके बाद वे उन्हें रेवाड़ी के अस्पताल में लेकर पहुंचे जहां पर तीन दिन उपचार के बाद चिकित्सकों ने पीजीआई रोहतक के लिए रेफर कर दिया। 19 मई को उपचार के दौरान रोहतक में मौत हो गई।

^प्रारंभिक शिकायत के आधार पर हत्या का मामला दर्ज किया गया था लेकिन जांच में मौत की वजह सड़क दुर्घटना पाई गई है। तत्पश्चात मामले की जांच उच्चाधिकारियों द्वारा की जा रही है इसके बाद इसमें किसी निष्कर्ष पर पहुंचा जाएगा।
-जगबीर सिंह, थाना प्रभारी, कोसली।

सरपंच से मिट्टी खुदाई को लेकर हुई थी कहासुनी
पीड़िता ने बताया कि घटना से चार-पांच दिन पहले उसके पति की कथित तौर पर मनरेगा में जेसीबी से मिट्टी खुदाई करके किसी का भरत कराने की बात को लेकर सरपंच से बहस हुई थी। आरोप है कि इसके बाद सरपंच ने उस समय व बाद घर आकर धमकी दी थी। पीड़िता ने आरोप लगाया कि उसके पति की एक साजिश के तहत हत्या की गई है और इस संबंध में कोसली पुलिस ने 20 मई को हत्या का मामला दर्ज कर लिया था। इसके बाद भी अभी तक कार्रवाई नहीं हुई है।