लोकल रुटों पर रोडवेज बसों का संचालन शुरू, बावल रुट पर मिले अधिक यात्री, शेष पर खाली चली बसें

  • आज से जयपुर, चंडीगढ़ व आगरा के लिए भी प्रारंभ हो जाएगा संचालन

रेवाड़ी. लॉकडाउन को समाप्त किए जाने के बाद जिला में प्रारंभ हुई रोडवेज की बसों को पहले दिन ही यात्रियों के लिए खूब इंतजार करना पड़ा। प्रबंधन की तरफ से बुधवार को सभी लोकल रूटों पर बसों का संचालन प्रारंभ कर दिया गया था।

बावल रूट को छोड़कर अधिकतर रूटों पर यात्रियों की संख्या 10-12 से अधिक नहीं रही। झज्जर के लिए तो केवल 3 ही यात्री गए। अब गुरुवार से जयपुर, चंडीगढ़ व आगरा रूटों के लिए बसों का संचालन प्रारंभ किया जा रहा है जिसके लिए ऑफलाइन टिकटें भी दी जाएगी।

देर शाम तक ऑनलाइन सिस्टम में नहीं आए नाम
रोडवेज प्रबंधन की तरफ से अंतरराज्यीय रूटों पर जाने वाली बसों के लिए ऑनलाइन बुकिंग की अनिवार्यता की गई थी। इसके चलते शहर से जयपुर, चंडीगढ़, आगरा, झज्जर, पटौदी, महेंद्रगढ़ के लिए भी ऑनलाइन टिकट पर ही यात्रा की अनुमति दी गई है लेकिन बुधवार देर शाम तक रोडवेज के ई-टिकटिंग पोर्टल पर रेवाड़ी से जयपुर, आगरा,चंडीगढ़, महेंद्रगढ़ व पटौदी के लिए टिकट बुकिंग की ही सुविधा प्रारंभ नहीं हो पाई थी।

इसके चलते रोडवेज कार्यालय में दिनभर यात्रियों के फोन भी आते रहे जिन्हें शाम तक बुकिंग शुरू होने की बात कही गई थी लेकिन शाम तक बुकिंग शुरू नहीं हो पाई थी। हालांकि रोडवेज प्रबंधन ने अंतरराज्यीय रूटों के लिए ऑफलाइन टिकटें देने का निर्णय कर लिया गया है

जिससे गुरुवार को इन स्थानों के लिए सफर करने वाले यात्री बस स्टैंड पर पहुंचकर टिकट लेकर यात्रा कर सकता है। हालांकि महेंद्रगढ़-पटौदी का नाम पोर्टल में नहीं डलने के बाद बुधवार को ही इसका संचालन कर दिया गया था लेकिन इन शहरों के लिए नाममात्र के ही यात्री गए।

ऑनलाइन बुकिंग सुविधा…झज्जर के लिए गए महज 3 यात्री, बावल के लिए बढ़े
रेवाड़ी से झज्जर के लिए दोनों तरफ ऑनलाइन टिकट बुकिंग की सुविधा है इसके बाद भी बुधवार को झज्जर से आई बस में बेहद कम यात्री आए। इसके बाद दोपहर 1 बजे झज्जर की बस यहां से गई तो उसमें महज 3 ही यात्री बस स्टैंड से सवार होकर गए जिसके बाद इस बस को शहर के अंदर से भेजा गया ताकि लोकल रूट के यात्रियों को इसका लाभ मिल सके। इसके बाद भी 10 से अधिक यात्री नहीं हो पाए। इसी तरह बावल के लिए भी बुधवार को शुरू की गई रोडवेज सेवा का ठीक रुझान मिला है। बावल के लिए सुबह गई बस में 18 यात्री गए और बावल से वापसी में भी इतने ही यात्री आएं। अधिकतर यात्री विभिन्न औद्योगिक इकाइयों में कार्य करने वाले ही थे।

सुविधा…फिलहाल होगा नियमित संचालन
कम यात्रियों के मिलने के बाद भी रोडवेज प्रबंधन ने कहा है कि फिलहाल जितने भी रूटों पर बसों का संचालन किया गया है उन सभी के लिए अब नियमित रूप से बसों का संचालन किया जाएगा। लोकल रूटों के साथ अंतरराज्यीय रूटों के लिए नियमित बसें चलने के साथ अभी इनकी संख्या भी बढ़ाई जाएगी। हालांकि बस स्टैंड पर आने वाले यात्रियों को तय नियमों का पालन करना होगा और बगैर मास्क किसी भी यात्री को नहीं आने दिया जाएगा।

सोमवार से यात्री भार बढ़ने की उम्मीद
रोडवेज अधिकारियों ने बताया कि अभी कोरोना के केस कम नहीं हो रहे हैं इसलिए फिलहाल वही लोग यात्रा कर रहे हैं जिनके लिए बेहद आवश्यक है। अधिकतर लोग सार्वजनिक परिवहन सेवा की बजाय निजी वाहन का उपयोग कर रहे हैं लेकिन सरकार की तरफ से पूरी तरह से लॉकडाउन समाप्ति की घोषणा की जा चुकी है और सोमवार से सभी कार्यालय सुचारू रूप से खुल जाएंगे इसके बाद ही यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी होगी।