मानसून में वन विभाग लगाएगा 5 लाख पौधे, 6 नर्सरियों में पौध तैयार

  • अरावली क्षेत्र, सड़क एवं नहरों के साथ गड्ढ़े खोदने का कार्य शुरु कराएगा वन विभाग

नारनौल. वन विभाग मॉनसून सत्र-2020 में जुलाई के प्रथम सप्ताह में पौधारोपण अभियान चलाकर जिले को हरा-भरा बनाएगा। वन विभाग ने पौधारोपण अभियान के लिए जिले की 6 नर्सरियों में विभिन्न प्रजातियों के 5 लाख से अधिक पौधे तैयार किए हैं। वन विभाग के अनुसार पौधारोपण अभियान के लिए अरावली क्षेत्र, सड़क एवं नहरों के साथ गड्ढ़े खोदने का कार्य शुरु करवाया जाएगा। इसके बाद बरसात होने पर पौधारोपण का कार्य शुरु करवाया जाएगा।

जिला वन विभाग के रिकार्ड के अनुसार मॉनसून सत्र- 2020 में जिले को हरा-भरा बनाने के लिए जिले की 6 नर्सरियों में विभिन्न प्रजातियों के 5.23 लाख पौधे तैयार किए गए हैं। इनमें महेंद्रगढ़ नर्सरी में 160630 पौधे तैयार किए गए हैं। इसके अलावा लहरोदा नर्सरी में 125000 पौधा तैयार किए गए हैं, जबकि सीहमा नर्सरी में 69052 पौधे, झगड़ोली नर्सरी में 66052, भुंगारका नर्सरी में 68990 पौधे तथा कृष्णावती नदी में स्थित नर्सरी में 33422 पौधे तैयार किए गए हैं।

बरसात का मौसम शुरु होने पर इन पौधों को अरावली क्षेत्र, राज मार्गों व नहरों के साथ खाली पड़ी जमीन पर रोपकर जिले को हरा-भरा बनाया जाएगा। इसके अलावा पौधा गिरी कार्यक्रम के तहत स्कूल/ कालेजों में भी पौधारोपण किया जाएगा। वन रेंज स्तर पर पौधारोपण अभियान की तैयारियां जोर-शोर से शुरु कर दी गई हैं।

जुलाई के प्रथम सप्ताह में चलाया जाएगा पौधारोपण अभियान : वन विभाग के अनुसार जुलाई के प्रथम सप्ताह में मानसून सत्र शुरु होगा। मानसून सत्र शुरु होने पर जिले में पौधारोपण अभियान चलाया जाएगा। जिले में पौधारोपण अभियान 15 अगस्त तक जारी रहेगा।

इस अभियान के तहत सर्व प्रथम वन विभाग खुद पौधारोपण करेगा। खुद का तारगेट पूरा करने के बाद स्कूल/कालेजों एवं पंचायतों के माध्यम से पौधारोपण करवाया जाएगा। इसके अलावा लोगों को अपने घरों एवं प्लाट पर पौधे लगाने के लिए निशुल्क दिए जाएंगे।