डाकघर से पुलिसकर्मी के खाते से 9 लाख रुपए निकालने के आरोप में एजेंट व पोस्ट मास्टर पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज

रेवाड़ी. कोसली थाना पुलिस ने गांव कारोली निवासी एक पुलिसकर्मी की शिकायत पर नाहड़ स्थित डाकघर के एजेंट व पोस्ट मास्टर के खिलाफ मासिक जमा योजना के खाते में जमा कराए 9 लाख रुपए मिलीभगत करके निकालने के आरोप में धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है। धोखाधड़ी का यह मामला पिछले वर्ष उजागर हुआ जब पुलिसकर्मी ने अपनी आरडी पूरी होने पर उसका पैसा निकालना चाहा। तत्पश्चात पीड़ित ने मामले की शिकायत एसपी कार्यालय में दी जिसके बाद पुलिस ने एजेंट व तत्कालीन पोस्ट मास्टर के खिलाफ धोखाधड़ी सहित विभिन्‍न धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया है।
शिकायत में गुड़गांव में तैनात पुलिसकर्मी मुकेश कुमार ने बताया कि उन्होंने वर्ष 2014 में नाहड़ पोस्ट ऑफिस में एक हजार रुपए मासिक जमा योजना का एक खाता खुलवाया था। इसके बाद उन्होंने अपने इस खाते में 9 लाख रुपए भी जमा करा दिया था। इस राशि का ब्याज 6300 रुपए मासिक बनता था जिसके लिए उसने अलग से आरडी खाता खुलवाकर पांच साल के लिए यह राशि उसमें डलवाने की बात कही। यह खाता उसने डाकघर के एजेंट नाहड़ निवासी से चालू कराया जिसके बारे में आरोप है कि तत्कालीन पोस्ट मास्टर ने ही बताया।

शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि मासिक जमा योजना का जो ब्याज बनता है वह आरोपियों ने उसके आरडी खाते में जमा कराने का आश्वासन देते हुए पोस्ट ऑफिस की निकासी स्लिप पर उससे हस्ताक्षर करा लिए। पुलिसकर्मी ने बताया कि बीच-बीच में वह एजेंट से मिलता रहा तो उसने आरडी खाता दिखाया जिसमें अलग-अलग तारीखों में पैसे जमा दिखाए हुए थे। वर्ष 2019 में एजेंट ने उसके पास फोन किया कि उसकी आरडी पूरी हो गई और इस पर 18 नवंबर 2019 को डाकघर गया था।

वहां पर जाने के बाद उन्होंने आरडी एवं एमआईएस दोबारा करने को कहा जिसके बाद उसने आरडी की पास बुक चैक की तो उसमें राशि पूरी मिली। मासिक जमा योजना की पासबुक जब डाकघर में ले जाकर चेक कराई तो पता चला कि उसके खाते में कोई एंट्री दर्ज नहीं है और पैसा भी निकाला जा चुका है। इसके बाद पीड़ित ने अधिकारियों को अवगत कराया तो कोई समाधान नहीं निकला जिसके बाद उन्होंने अब एसपी कार्यालय में एजेंट व तत्कालीन पोस्ट मास्टर की शिकायत की।