अटेली क्षेत्र में 18 में से खोड़ गांव में 6 केस कोरोना पॉजिटिव, जिले में केस कुल 70 हुए

  • खोड़ में 26 मई को संक्रमित युवक से 1 केस और बढ़ा
  • नांगल में दिल्ली से आने वाला ड्राइवर लाया संक्रमण
  • मोबाइल एंबुलेंस टीम ने खोड़, कांटी सहित अन्य गांवों में लिए सैंपल

नारनौल. टेली सीएचसी के अंतर्गत आने वाले 3 गांवों में मंगलवार देर शाम 8 कोरोना के संक्रमित के स के बाद बुधवार सुबह खोड़ व नांगल में एक-एक ओर संक्रमित नये केस सामने आये है। स्वास्थ्य विभाग ने दोनों संक्रमित केसों को मोबाइल विशेष एंबुलेंस से कोविड-19 के लिए बनाये गये अस्पताल में भेज दिया गया है।

खोड़ गांव में 26 मई को मिले संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने वाले के कारण यह नया केस सामने आया है, अब इस गांव में 6 केस हो गये है, जबकि नांगल गांव में दिल्ली से 29 मई को आया केस ड्राइवर का है, जिसका सैंपल उसी दिन अटेली अस्पताल ने लिया था। इसके चलते सीएचसी के क्षेत्र में अब 18 केस हो गये है।

बता दें कि कस्बे में 16 मई को कोरोना का पहला पॉजिटिव केस सामने आने के बाद 21 मई को बजाड़ में दो, महासर में 1 तथा गुजरवास में 1 को मिला कर कुल 4 केस मिले थे। उसके बाद 26 मई को महासर व खोड़ में एक-एक केस मिलने से कुल 2 सामने आये थे। इसके बाद 31 जून को गुड़गांव से आने वाला व्यक्ति संक्रमित मिला। इन सभी को मिलाकर अटेली सीएचसी के अधीन गांवों में 16 केस हो गये है। इसके अलावा एक केस ओर जो अटेली स्वास्थ्य विभाग अपने रिकॉर्ड में नहीं गिन रहा है, वह गणियार गांव का दिल्ली पुलिस का जवान इस तरह से अटेली क्षेत्र के गांवों में कुल 17 केस हो गये है। इसके बाद 2 जून को खोड़ में 4 व सैदपुर में 2 तथा कांटी में 2 नये केस मिले।

स्वास्थ्य विभाग मौके पर पहुंच कर अग्रिम कार्रवाई करते सेनिटाइजर व कंटेनमेंट जोन स्थापित कर लोगों की आवाजाही बंद कर दी है। संक्रमितों को विशेष एंबुलेंस से पटीकरा भेज दिया गया है। गांव सैदपुर में कोरोना सैंपल कलेक्टर डॉ. विजय यादव, डॉ. मनीष यादव, डॉ. मुकेश सोनी, एमपीएचडब्ल्यू सुरेश कु मार आदि ने पहुंच कर थर्मल स्क्रीनिंग व आवश्यक कार्रवाई की। इन सभी को मिला कर अटेली सीचएचसी के अंतर्गत आने वाले गांवों में 8 कंटेनमेंट जोन बन गये है।

खोड़ गांव में डॉ. आदित्य यादव पहुंच कर पहले से बने हुए कंटेनमेंट जोन को सख्त करा तथा संपर्क में आने वाले लोगों से होम आइसोलेशन के लिए सलाह दी। उन्होंने कहा कि घरों से बाहर निकलने पर मास्क नहीं पहने पर स्वास्थ्य विभाग को 500 रुपए के चालान करने के अनुमति प्रदान कर दी है। इसलिए सोशल व फिजिकल डिस्टेंस बना कर उचित दूरी का पालन करे।

लोगों के लिए चिंता व विशेष सतर्कता की जरूरत : क्षेत्र गांवों में सामुदायिक संक्रमण की चेन बनती जा रही है। जो स्वास्थ्य विभाग व क्षेत्र के लोगों के लिए चिंता व विशेष सतर्कता की जरूरत है चूंकि 1 जून से सब सरकार ने अनलॉक कर दिया है। खोड़ गांव में 26 मई को मिले संक्रमित व्यक्ति के 7 दिन बाद मंगलवार को उसकी मां (68), पत्नी (48) व लड़का (23) भी शामिल है व एक अन्य संक्रमित जो 45 वर्ष का है। अटेली अस्पताल में एक साथ इतने सारे केस मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग व प्रशासनिक अधिकारियों में हड़कंप मच हुआ है। वही नांगल में बुधवार को संक्रमित व्यक्ति दिल्ली में टैक्सी चालक है तथा वह पिछले क ई दिनों से गांव में परिवार समेत आया हुआ है। बताया जाता है कि यह गांव में अनेक लोग के संपर्क मे आया है। वही कांटी में मंगलवार को दो मिले के स गांव मुंबई से आये है तथा बड़ा परिवार है सभी मिल कर रहते है।