लॉरेंस बिश्नोई के कहने पर अरविंद सिंगला के घर पर चलाई थीं गोलियां, गुरसेवक गिरफ्तार

  • चंडीगढ़ में हरियाणा के गैंगस्टर्स का आतंक, 3 दिन में 2 बार ताबड़तोड़ फायरिंग

पानीपत. (संजीव महाजन) मार्केट में ठेके पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाई गई हैं। आरोपी गाड़ी में आए और आराम से मौके से फरार भी हो गए। इस वारदात में 3 लाेग जख्मी हैं। वहीं, अरविंद सिंगला की कोठी पर गोली चलाने वालों की कार बरामद करने के बाद जीरकपुर निवासी जिम मालिक गुरसेवक को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गुरसेवक ने पूछताछ में बताया है कि उसे लॉरेंस बिश्नोई का जेल से फोन आया था। कहा कि उसकी क्रेटा गाड़ी चाहिए।

उसके साथी गाड़ी लेने आएंगे। गुरसेवक ने पुलिस को बताया कि उसने लॉरेंस को जवाब दिया कि उसकी क्रेटा गाड़ी खराब है, लेकिन वह अपने दोस्त की आइकॉन कार दिलवा देगा। रवि और नवीन नाम का गैंगस्टर कार लेकर गए थे। अब स्पष्ट हो चुका है कि अरविंद सिंगला के घर पर गोलियां हरियाणा के गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के इशारे पर ही चलाई गई थीं। हालांकि लॉरेंस की तरफ से अभी तक फिरौती की कोई कॉल नहीं आई है। अब पुलिस जांच कर रही है कि किसने फिरौती देकर अरविंद सिंगला के घर पर गोलियां चलवाईं। अब लॉरेंस ने तरीका बदल दिया है।
पहले वह धमकी देकर फिरौती मगांता था, लेकिन इस बार उसने किसी से फिरौती नहीं मांगी। पुलिस को भी लगने लगा है कि अरविंद सिंगला और सेक्टर-9 शराब के ठेके पर तैनात कर्मियों पर गोलियां चलवाईं, ताकि शराब ठेकेदारों में उसकी दहशत फैली रहे और वह वह उनसे मोटी फिरौती हासिल कर सके। पुलिस को नहीं पता है कि लॉरेंस का अरविंद सिंगला के घर पर गोली चलवाने के पीछे क्या मकसद है। सिंगला के बेहद करीबी शराब व्यापारी पर भी पुलिस नजर रखे हुए है, क्योंकि खुद अरविंद सिंगला ने ही उसका नाम पुलिस को दिया है। क्योंकि उनका पैसों को लेकर कई दिनों से विवाद चल रहा है। गुरसेवक बिश्नोई का लगातार मददगार रहा है। इससे पहले सेक्टर-26 के डिस्क में जब गोली चली थी तो उस समय भी कार आरोपियों को दिलवाने में गुरसेवक का ही हाथ था। सूत्रों के मुताबिक गुरसेवक से पुलिस ने हथियार भी बरामद किया है।
सेक्टर 9 स्थित पॉश मार्केेट में शराब के ठेके में घुसकर दो नकाबपोश युवकों ने गोलीयां चला दी। गोली एक कारिंदे को लगी है। मामले में सेक्टर 3 थाना पुलिस ने केस दर्ज कर हमलावरों की तलाश शुरू कर दी है। वहीं कुल तीन लोग घायल हुए है, जिसमें एक को गोली लगी है, जबकि दो लोगों को कांच टुटकर लगा है। शहर में शराब के ठेकेदार पर तीन दिन में गोली चलाने का यह दूसरा मामला है।