दोनों हाथों में पिस्टल ले छत पर चढ़ा युवक, 4 घंटे तक 25 राउंड फायर, बड़ी मुश्किल से काबू आया

  • बल्लभगढ़ के छांयसा का मामला, 4 घंटे तक रूक-रूककर करता रहा फायर
  • गांव में रहा दहशत का माहौल, युवक को काबू करने में पुलिस के छूटे पसीने

फरीदाबाद. बल्लभगढ़ के छांयसा गांव में मंगलवार को उस वक्त अफरा-तफरी मच गई, जब एक युवक दोनों हाथों में पिस्टल लेकर अपनी छत पर चढ़ गया और रुक-रुककर चार घंटे तक 25 राउंड फायरिंग करता रहा। गोलियों की आवाज से पूरे गांव में दहशत का माहौल पैदा हो गया। आसपास के लोग अपने अपने घरों में जान बचाने के लिए दुबक गए। इसकी सूचना मिलने पर मौके पर पुलिस पहुंच गई। कड़ी मशक्कत के बाद क्राइम ब्रांच की टीम ने उसे काबू कर छत से उतारा और पुलिस को सौंप दिया। पुलिस ने युवक के खिलाफ अवैध हथियार रखने और लोगों की जान जोखिम में डालने समेत विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। युवक की पहचान 31 वर्षीय राजकुमार के रूप में हुई है।

आरोपी दोनों हाथों में पिस्टल लेकर चढ़ा था। इन्हें वो यूपी से लाया था।

बातों में उलझाकर बड़ी मुश्किल से पकड़ा
पुलिस के मुताबिक, उक्त युवक मंगलवार सुबह करीब 8 बजे अपनी छत पर दोनों हाथों में पिस्टल लेकर चढ़ गया और फायरिंग करने लगा। दोपहर 12 बजे तक रुक-रुक कर फायरिंग करता रहा। युवक को काबू करने में पुलिस के पसीने छूट गए। पुलिस युवक को समझाकर छत से उतारने का प्रयास करती रही। लेकिन उसका यह प्रयास सफल नहीं हुआ। इसके बाद मौके पर क्राइम ब्रांच को बुलाया गया। इसकी टीम मौके पर पहुंची और हालात का जायजा लिया। पुलिस सामने से युवक को बातों में उलझाकर रखा और पीछे से क्राइम ब्रांच की टीम ने पड़ोसी की छत के सहारे चढ़कर उसे पकड़ लिया।

परिजन बोले- मानसिक संतुलन बिगड़ा हुआ है
आरोपी राजकुमार के छोटे भाई सतीश कुमार का कहना है कि उसका मानसिक संतुलन खराब है। करीब एक साल से उसका इलाज चल रहा है। अंबाला से इलाज चलने के बाद थोड़ा आराम मिला था। इसके बाद वहां से भाग आया। अब फिर पहले जैसे हालात हो गए। आरोपी के पास हथियार कहां से और कैसे आए, इसकी जानकारी होने से भाई ने इंकार किया।