जून में ऑनलाइन पढ़ेंगे बच्चे, गर्मी बढ़ी तो होंगी छुट्टियां; कोर्स बचा तो सर्दियों की छुट्टी में स्कूलों में होगी पढ़ाई

  • सीएम ने दिए संकेत, सर्दियों की छुट्टियां इस बार नहीं होंगी

पानीपत. अबकी बार प्रदेश के राजकीय स्कूलों में ग्रीष्म कालीन अवकाश होने के आसार काफी कम हैं। गर्मी बढ़ी तो ही इस तरह के अवकाश हो सकता है। ऐसी संभावना है कि सरकार अब सर्दियों की छुट्टी में स्कूलों में पढ़ाई कराएगी। क्योंकि काफी समय से स्कूल बंद पड़े हैं।

सीएम ने प्रेसवार्ता में बताया कि छुट्टियां करने का कोई इरादा नहीं है। क्योंकि कोरोना जैसी महामारी के कारण पहले ही प्रदेश के स्कूलों की छुट्टियां ही चल रही हैं। मार्च और अप्रैल में लॉकडाउन के बाद सरकार ने स्कूल-कॉलेजों में ऑनलाइन पढ़ाई शुरू करवाई। प्राइवेट स्कूलों द्वारा ऑनलाइन शिक्षा दी जा रही है। स्कूलों को खोलने का फैसला केंद्रीय गृह मंत्रालय की गाइडलाइन के हिसाब से ही लेंगे। ऐसे में संभावना यही है कि जुलाई में प्रदेश के स्कूल खुल सकेंगे।
सीएम ने कहा कि विद्यार्थियों को किसी तरह का नुकसान न हो, इसके लिए गर्मी व सर्दी की छुट्टियों में भी स्कूल लगेंगे। तब तक पढ़ाई ऑनलाइन ही चलती रहेगी। बहुत अधिक गर्मी पड़ी तो छुट्टियों के बारे में सोचा जा सकता है। फिलहाल कोई विचार नहीं है। लॉकडाउन की वजह से जिन कक्षाओं की परीक्षाएं नहीं हो पाई थीं, वे अब होंगी। उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए केवल वही परीक्षाए ली जाएंगी, जो बहुत जरूरी होंगी। जहां जरूरी नहीं था, उन कक्षाओं के विद्यार्थियों को पहले ही अगली कक्षा में प्रमोट किया जा चुका है।

जबकि कॉलेजों व यूनिवर्सिटी की परीक्षाओं पर निर्णय हायर एजुकेशन काउसिंल इसका फैसला करेगी। प्रदेश में 1 हजार प्राइमरी स्कूलों को बैग-फ्री अंग्रेजी मीडियम स्कूल में अपग्रेड किया जाएगा। ये स्कूल प्राइवेट स्कूलों की तर्ज पर होंगे। उन्होंने कहा कि हरियाणा ईज ऑफ डूइंग में तीसरे स्थान पर है। सीएम ने कहा कि प्रदेश से अपने घरों को जाने की योजना बना रहे करीब तीन लाख श्रमिकों ने अपना निर्णय टाल दिया है और वे काम पर लौट आए हैं। पड़ोसी राज्यों में बसों के जरिए श्रमिकों को पहुंचाने के निर्देश केंद्रीय गृह मंत्रालय ने दिए।