हरियाणा में 20 जून तक प्री मानसून और 30 जून से मानसून दे सकता है दस्तक

हिसार। इस बार हरियाणा और आसपास के क्षेत्र में 20 जून को प्री मानसून और 30 जून तक मानसून के दस्तक देने की संभावना है। इसके बाद 4 या 5 जुलाई तक पूरे हरियाणा को मानसून कवर कर लेगा।  भारत मौसम विभाग ने कहा है कि इस बार मानसून की बारिश सामान्‍य से अधिक होगी। मौसम विभाग ने बताया है कि मानसून 30 जून के आसपास पहुंचेगा और इसे तीन से चार दिन पूरी तरह से सक्रिय होने में लगेंगे। मौसम विभाग के पूर्वानुमान पर गौर करें तो इस बार सामान्य से सात फीसद अधिक बारिश होने की संभावना है। हालांकि यह मौसम की दिशा व दशा पर निर्भर करेगा। यदि समय पर मानसून आया तो यह किसानों के लिए फायदेमंद रहेगा।

प्रदेश के विभिन्न शहरों का तापमान सामान्य है। आसमान साफ हुआ तो धूप निकली, मगर गर्मी से राहत थी।  देर रात तो हिसार सहित कई जगहों पर फिर बारिश हुई। प्रदेश के सभी शहरों में से दिन का तापमान सबसे कम करनाल में दर्ज किया गया है। जो सामान्य से 8 डिग्री कम रहकर 32 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया तो न्यूनतम तापमान 19.8 डिग्री सेल्सियस रहा। 

चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डा. मदन खिचड़ ने बताया कि आने वाले दो से तीन दिनों में आमतौर पर मौसम परिवर्तनशील रहने की संभावना है। बीच-बीच में आंशिक बादलवाई व हवाएं चल सकती हैं। इसके साथ ही तापमान में हल्की बढ़ोतरी की संभावना दर्ज की जा सकती है। वहीं एक-दो स्थानों पर बूंदाबांदी की आशंका है।

उन्‍होंने बताया कि 30 जून से 5 जुलाई तक मानसून आ सकता है, इससे पहले 20 जून के आसपास प्री मानसून बारिश आने की संभावनाएं बन रही है। जो खरीफ फसलों की बिजाई के लिए फायदेमंद रहेगी। अक्सर मानसून हरियाणा में जुलाई के प्रथम सप्ताह में आ जाता है।

2020 दक्षिण पश्चिमी मानसून वर्षा का पूर्वानुमान
भारत मौसम विभाग के अनुसार उत्तर पश्चिम क्षेत्र यानि राजस्थान, हरियाणा, पंजाब, जम्मू कश्मीर आदि में मानसून ऋतु की वर्षा दीर्घावधि औसत के 107 फीसद, मध्य भारत में 103 फीसद, दक्षिणी प्रायद्वीप में 102 फीसद तथा पूर्वोत्तर भारत में 96 फीसद होने की संभावना है। इसमें 8 फीसद की मॉडल त्रुटि हो सकती है। समूचे देश के लिए जुलाई माह में दीर्घावधि औसत के 103 फीसद तथा अगस्त माह में 97 फीसद वर्षा होने की संभावना है। इसमें 9 फीसद की मॉडल त्रुटि हो सकती।