फरीदाबाद लैब कर्मी संक्रमित, रेवाड़ी की रिपोर्ट अटकी; सदर थाना तक 4 दिन से बंद

  • 29 मई के बाद नहीं आई कोई जांच रिपोर्ट
  • राहत… दो लोगों को और मिली छुट्‌टी, 23 में से 12 हो चुके ठीक

रेवाड़ी. फरीदाबाद एनआईटी 3 स्थित ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज व अस्पताल की कोविड टेस्ट लैब का टेक्नीशियन कोरोना संक्रमित मिलने के चलते रेवाड़ी की भी सैंपलिंग और जांच प्रक्रिया पर असर पड़ा है। पिछले 3 दिन से जिला में कोई जांच रिपोर्ट ही नहीं आ सकी है। इसके अलावा सैंपल भी इक्का-दुक्का ही लिए जा सके हैं। रिपोर्ट ही अटकने के चलते दो-तीन दिन पहले सैंपल दे चुके लोगों को भी अपनी रिपोर्ट का इंतजार है, क्योंकि रिपोर्ट आने के बाद ही उपचार के लिए कोविड-19 अस्पताल में दाखिल कराया जाता है। उपरोक्त अड़चन के चलते रेवाड़ी का सदर थाने तक नहीं खुल पाया है। क्योंकि पुलिसकर्मियों की रिपोर्ट भी अभी तक पेंडिंग है। इसलिए पिछले 4 दिनों से थाने पर ताला लटका हुआ है।

ईएसआईसी कॉलेज में सेनिटाइजेशन के बाद दोबारा शुरू होनी है लैब
सरकार की ओर से ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज में कोविड-19 टेस्ट के लिए लैब बनाई गई है। इसमें टीएचएसटीआई के सहयोग से कोरोना मरीजों के सैंपलों की जांच की जाती है। दो दिन पहले यहां का एक लैब टेक्नीशियन कोरोना पॉजिटिव मिला। इससे प्रशासन द्वारा लैब को तुरंत बंद करने का फैसला लिया गया। अब सेनिटाइजेशन के बाद लैब में जांच शुरू होगी। बताया जा रहा है कि लैब टेक्नीशियन के संपर्क में आने वाले कुछ कर्मियों व अन्य लोगों के भी सैंपल लिए जाएंगे। उम्मीद है कि मंगलवार से उक्त लैब में काम की व्यवस्था पटरी पर लौट आए। रेवाड़ी में पिछले 2 दिनों के दौरान इमरजेंसी केस अलावा नए सैंपल नहीं लिए हैं। खुद स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि लैब में टेक्नीशियन संक्रमित मिलने से और सैंपल ने से इंकार कर दिया गया था, क्योंकि वहां काम बंद करना पड़ा था। 29 मई के बाद जिले में कोई रिपोर्ट नहीं आई हैं।

पहले पुणे, फिर रोहतक, अब फरीदाबाद में जांच
जिले में मार्च की शुरूआत में विदेश से आए लोगों के सैंपल लेने शुरू हुए थे। उस समय पुणे स्थिति कोविड टेस्ट लैब में ये सैंपल भेजे जा रहे थे। इसके बाद राज्य में ही रोहतक पीजीआई स्थित कोविड लैब में टेस्टिंग शुरू हो गई। रेवाड़ी से भी रोहतक ही सैंपल भेजे जा रहे थे। अब कुछ दिन से ही फरीदाबाद लैब में सैंपल भेजे जा रहे हैं। वहीं से जांच रिपोर्ट आ रही है। जिला में अब तक कुल 2735 सैंपल लिए गए हैं।

सदर में चोरी का आरोपी मिला था संक्रमित
गांव गोकलगढ़ में किराये के मकान में रह रहे एक चोरी के आरोपी को हाल में सदर थाना पुलिस ने पकड़ा था। आरोपी को थाने लाया गया तथा उसे लॉकअप में भी रखा गया। इस दौरान आरोपी का कोरोना टेस्ट भी कराया गया। 28 मई काे उक्त आरोपी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके चलते सदर थाना के 25 स्टाफ सदस्यों के सैंपल लिए गए। जो कि जांच के लिए भेजे गए थे। अब जब तक जांच रिपोर्ट नहीं आ जाती तब तक के लिए एहतियात के तौर पर थाने का कामकाज बंद कर दिया गया है।

यहां का कामकाज मॉडल टाउन थाने से चलाया जा रहा है। केस मिलने के बाद से अब तक थाने के गेट पर ताला लटका हुआ है। एसएचओ ने बताया कि अभी तक पुलिसकर्मियों की कोविड टेस्ट रिपोर्ट प्राप्त नहीं हो पाई है। बता दें कि जिले में यह दूसरी घटना है जब किसी आरोपी के कोरोना पॉजिटिव मिलने पर थाना बंद करना पड़ा हो। इससे पहले खोल थाना बंद करना पड़ा था।

स्वास्थ्य सुधार… युवक व पुलिसकर्मी ठीक हुए
जिले में नया केस नहीं आया है, मगर सुखद खबर जरूर आई। दो और पॉजिटिव व्यक्ति ठीक होकर लौट चुके हैं। प्रशासन के अनुसार खटावली में संक्रमित मिला दिल्ली पुलिस का जवान और मामडिया अहीर (ढाणी नंगला) का युवक ठीक होकर लौट आए हैं। इससे पहले भी सेक्टर-3 निवासी मां-बेटी और उनके पड़ोस में रहने वाली महिला, मुरलीपुर निवासी पुलिसकर्मी, बीकानेर गांव के एक ही परिवार के 5 सदस्य व मायन का एक पॉजिटिव केस ठीक होकर घर आ गए हैं।

जिला में अब कोविड पॉजिटिव 11 एक्टिव केस हैं, इनमें डब्लयूसीएमएस झज्जर में 7, एसजीटी गुड़गांव में 3 तथा रॉकलैंड मानेसर में एक मरीज एडमिट है। सभी के स्वास्थ्य में निरंतर सुधार की रिपोर्ट आ रही है।