अवैध खनन पर सीएम फ्लाइंग टीम की दबिश, विरोध के बीच नेताओं के वाहन किए सीज

पानीपत/यमुनानगर। सीएम फ्लाइंग ने जिले में अवैध खनन पर शिकंजा लगाने के लिए रेड की। इस दौरान चूहड़पुर कलां, गुमथला घाट, जयधरी और बेलगढ़ से कई वाहन कब्जे में लिए। टीम को लगातार अवैध खनन की सूचना मिल रही थी। स्थानीय पुलिस प्रशासन इस पर कोई रोक नहीं लगा सका। सोमवार को सीएम फ्लाइंग ने रेड की, तो हडकंप मच गया। मौके से अवैध खनन कर रहे कई वाहनों को पकड़ा गया। इसमें कुछ वाहन सत्तापक्ष के दो बड़े नेताओं के बताए जा रहे हैं। फिलहाल इन वाहनों को पुलिस लाइन में सीज किया गया है। मामला सत्ता पक्ष के नेताओं से जुड़ा होने की वजह से स्थानीय थानों में भी इन वाहनों को नहीं लाया गया। अक्सर खनन में पकड़े गए वाहनों को प्रतापनगर थाने में खड़ा कराया जाता था, लेकिन इस बार टीम पकड़े गए वाहनों को यहां नहीं लेकर आई। बताया जा रहा है कि दबाव में ये वाहन छूट न जाएं। इसलिए ही टीम ने इन वाहनों को स्थानीय थाने में सीज नहीं किया। करीब एक घंटे तक विरोध होता रहा, लेकिन टीम के सामने उनकी दलील नहीं टिक सकी। विरोध बढ़ते देख अतिरिक्त पुलिस बल मंगवाया गया और टीम वाहनों को लेकर गई। मामले में इधर-उधर से भी सिफारिशें लगवाई, लेकिन बात नहीं बनी। 

पुख्ता जानकारी के आधार पर हुई कार्रवाई 
गांव चूहड़पुर कलां के पत्थर खदान में दबिश डाली गई। रेड के समय मौके से एक अर्थमूवर मशीन, कई ट्रैक्टर व दो डंपर खनिज सामग्री से भरे हुए पकड़े। टीम ने वाहनों को कब्जे में लेना शुरू किया। टीम की कार्रवाई की खबर पूरे क्षेत्र में फैल गई। जिससे पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया। कुछ तो वाहनों को लेकर भाग निकले, लेकिन  नेता के वाहन पकड़े गए। इसके अलावा गुमथला से दो डंपर, बेलगढ़ से एक डंपर,जयधरी घाट से एक जेसीबी मशीन कब्जे में ली गई है। 

खनन जोन हुआ शांत
टीम की इस कार्रवाई से खनन जोन में हड़कंप मचा रहा। जहां दिन रात वाहनों की लाइनें लगी रहती थी। क्षेत्र पूरी तरह से शांत रहा। सबसे अधिक चर्चा भाजपा नेताओं के वाहनों को पकडऩे की हो रही थी। चूहड़पुर क्षेत्र में करीब 15 दिनों से अवैध खनन हो रहा था। इसकी क्षेत्र से ही किसी ने पुख्ता सूचना भिजवाई। जिसके बाद यह कार्रवाई हुई।

मुझे जानकारी नहीं 
माइनिंग अधिकारी अशोक कुमार का कहना है कि छापेमारी के बारे में कोई सूचना नहीं है। बाहर से आई टीम ने कोई कार्रवाई की हो, इस बारे में पता नहीं है।