पाकिस्तानी उच्चायोग के दो अफसरों को जासूसी के आरोप में भारत ने देश छोड़ने के लिए कहा

भारत ने पाकिस्तानी उच्चायोग के दो अफ़सरों को पर्सोना नॉन ग्राटा यानी अस्वीकृत व्यक्ति घोषित कर दिया है. इसके बाद अब इन दोनों अधिकारियों को चौबीस घंटों के भीतर हर हाल में भारत छोड़ कर जाना होगा.

विदेश मंत्रालय ने कहा है कि रविवार को भारतीय अधिकारियों ने जासूसी के आरोप में इन दोनों अधिकारियों को पकड़ा था. दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल के अधिकारियों ने नाम न बताने की शर्त पर कहा है कि करोल बाग़ के नज़दीक रविवार सवेरे पाकिस्तानी उच्चायोग के तीन अधिकारियों को भारतीय सुरक्षा से जुड़ी जानकारियां जुटाने के आरोपों में हिरासत में लिया गया था. भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस मामले में पाकिस्तान के सामने कड़ा विरोध दर्ज कराया है. भारत का आरोप है कि पाकिस्तान उच्चायोग के ये दो अधिकारी भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा के ख़िलाफ़ काम कर रहे थे.
पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर भारत के इस कदम की निंदा की है और कहा है कि पाक अधिकारियों पर ग़लत आरोप लगाए गए हैं. बयान में कहा गया है कि पाकिस्तानी उच्चायोग के बयान के अनुसार भारत का ये कदम दोनों देशों के बीच कूटनीतिक रिश्ते कम करने के उद्देश्य से उठाया गया है.