8 तारीख से पूजा-स्थल, होटल, रेस्टोरेंट और शॉपिंग मॉल्स को अनुमति, दूसरे चरण में खुल सकते हैं स्कूल, कॉलेज, शैक्षिक, प्रशिक्षण और कोचिंग संस्थान

गृह मंत्रालय ने कंटेनमेंट क्षेत्रों से बाहर के इलाकों में प्रतिबंधित गतिविधियां चरणबद्ध तरीके से फिर से खोलने के बारे में नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं. कंटेनमेंट क्षेत्रों में राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ा दिया गया है.

दिशा-निर्देशों में कहा गया है कि इन क्षेत्रों से बाहर चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन खोलने की अनुमति होगी. नए दिशा-निर्देशों के अंतर्गत पहले चरण के दौरान अगले महीने की 8 तारीख से पूजा-स्थल, होटल, रेस्टोरेंट और अन्य आवभगत सेवाओं तथा शॉपिंग मॉल्स में लोगों के प्रवेश की अनुमति होगी. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय संबद्ध केंद्रीय मंत्रालयों और विभागों तथा अन्य हितधारकों के परामर्श से इन गतिविधियों के लिए एसओपी जारी करेगा. इनका उद्देश्य सुरक्षित दूरी बनाए रखना और कोविड-19 के फैलाव को रोकना है.

दूसरे चरण में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से सलाह-मशविरा करने के बाद स्कूल, कॉलेज, शैक्षिक, प्रशिक्षण और कोचिंग संस्थानों को खोलने पर विचार किया जाएगा. राज्य सरकारें और संघ शासित प्रदेश प्रशासनों को सलाह दी गई है कि वे संस्थानों और अभिभावकों तथा अन्य संबद्ध पक्षों के साथ सलाह-मशविरा करें. अपेक्षित जानकारी प्राप्त होने के आधार पर इस वर्ष जुलाई के महीने में इन संस्थानों को फिर से खोलने का निर्णय किया जाएगा.
कंटेनमेंट जोन में कोई छूट नहीं
सरकार ने चरणबद्ध तरीके से छूट देने का इरादा बना लिया है लेकिन कंटेनमेंट जोन अब भी पूरी तरह से सील रहेंगे। यहां उतनी ही सख्ती होगी जितना सख्ती पहले लॉकडाउन में थी। जरूरी सामानों की होम डिलिवरी होगी और लोगों को आवाजाही की कोई छूट नहीं दी जाएगी।