सोनीपत शराब घोटाला: एसईटी का कार्यकाल दो माह बढ़ा, मोहम्‍मद अकील नए सदस्‍य

चंडीगढ़। हरियाणा सरकार ने शराब घोटाले की जांच के लिए गठित उच्‍चस्‍तरीय स्पेशल इंक्वायरी टीम (SET) का कार्यकाल बढ़ा दिया है। सरकार ने एसईटी के कार्यकाल में दो माह की वृद्धि की है। इसका कार्यकाल 31 मई को समाप्‍त होना था। इसके साथ ही वरिष्‍ठ आइपीएस अधिकारी अकील मोहम्‍मद इसके नए सदस्‍य होंगे। वह सेवानिवृत हुए एडीजीपी सुभाष यादव का स्‍थान लेंगे।
हरियाण के गृहमंत्री अनिल विज ने आज यहां यह घोषणा की। उन्‍होंने कहा कि एसईटी की जांच अभी पूरी नहीं हुई है और इसी कारण सरकार ने इसका कार्यकाल बढ़ाने का फैसला किया है। इसके साथ ही एडीजीपी और गुरुग्राम के पुलिस कमिश्‍नर अकील अहमद को एसईटी का नया सदस्‍य बनाया गया है। उनको कल रिटायर हुए एडीजीपी सुभाष यादव के स्‍थान पर इस जांच टीम का सदस्‍य बनाया गया है।
बता दें कि एडीजीपी सुभाष यादव को हरियाणा सरकार ने एक्‍टेंशन नहीं दिया था। एसईटी के प्रधान सीनियर आइएएस अफसर टीसी गुप्‍ता हैं। अनिल विज ने कहा कि सुभाष यादव की जगह नए सदस्‍य के लिए टीसी गुप्‍ता से लिखित राय मांगी गई थी। उनकी राय के आधार पर ही अकील मोहम्‍मद को एसईटी का सदस्‍य नियुक्‍त किया गया है। बता दें कि एसईटी को 31 मई को अपनी रिपोर्ट सरकार को देनी थी। एडीशनल आबकारी एवं कराधान आयुक्त विजय सिंह इसके तीसरे सदस्‍य हैं।
कबूतरबाज काे बख्‍शा नहीं जाएगा
अनिल विज ने इस अवसर पर अमेरिका से डिपोर्ट किए गए हरियाणा के लोगों के बारे में कहा कि पूरे मामले की जांच की जा रही है। इस मामले में इन लाेगों को गैरकानूनी तरीके से दूसरे देशों में भेजने वाले कियी कबूतरबाज काे बख्‍शा नहीं जाएगा।