नोएडा में 5 प्राइवेट लैब में हुई कोविड-19 जांच में 8 लोगों की रिपोर्ट गलत निकली

नोएडा (उत्तर प्रदेश) में 5 प्राइवेट लैब्स द्वारा 8 लोगों को कोविड-19 पॉज़िटिव बताए जाने के बाद सरकारी लैब्स में उनकी रिपोर्ट्स नेगेटिव आई हैं। एक अधिकारी के मुताबिक, 8 लोगों को डिस्चार्ज किया गया है और प्राइवेट लैब्स को नोटिस दिया जा रहा है। ज़िलाधिकारी सुहास एल.वाई. ने कहा, “अब हम प्राइवेट लैब्स की…जांचों पर नज़र रख रहे हैं।”

एक वरिष्ठ सरकारी डॉक्टर ने कहा, ‘निजी प्रयोगशालाओं से मिली संदिग्ध रिपोर्टों को राष्ट्रीय जीव विज्ञान संस्थान (एनआईबी) या अति विशिष्ट बाल चिकित्सा अस्पताल और स्नातकोत्तर शिक्षण संस्थान (एसएसपीएचपीजीटीआई) या सरकारी आयुर्विज्ञान संस्थान (जीआईएमएस) में सत्यापित किया जा रहा है।’

उन्होंने कहा, ‘जांच के लिए मरीजों का चयन करते वक्त निजी चिकित्सा संस्थानों को भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के दिशा-निर्देशों का पालन करने के लिए निर्देशित किया गया है, जबकि जांच केवल आईसीएमआर-मान्यता प्राप्त प्रयोगशालाओं में ही की जानी है।’