हरियाणा में दिल्ली से लगे जिलों में बढ़े कोरोना के मरीज, दिल्ली-एनसीआर सीमाओं पर सख्ती, गुरुग्राम बॉर्डर लगा जाम

दिल्ली से लगे जिलों में कोरोना वायरस के मामलों में आई बढ़ोतरी को देखते हुए हरियाणा सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी से लगे अपने बॉर्डर को सील करने का आदेश दिया है। हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि दिल्ली से सटे जिलों में कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए हरियाणा-दिल्ली सीमा को सील करने का आदेश दिया गया है। हरियाणा सरकार ने आदेश दिया है कि बिना पास के सीमाओं को पार कर आने-जाने वाले लोगों पर रोक लगाई जाए और बॉर्डर को सील किया जाए। अनिल विज ने कहा है कि मैंने आज फिर से आदेश जारी किया है कि दिल्ली से सटे जिलों में कोई भी ढिलाई नहीं बरती जाए। उन्होंने कहा कि हमारे राज्य में कोरोना वायरस के मामलों में से सात से आठ प्रतिशत तो दिल्ली से सटे जिलों से हैं। बढ़ते मामले को देखते हुए राष्ट्रीय राजधानी के साथ अपनी सीमाओं पर सख्ती बनाए रख रहे हैं।

उन्होंने कहा कि दिल्ली उच्च न्यायालय और केंद्र सरकार की ओर से छूट प्राप्त श्रेणियों को छोड़कर अन्य के लिए राज्य की सीमाएं पूरी तरह से सील रहेंगीं। उन्होंने राज्य में कोरोना मामलों के उछाल के पीछे राष्ट्रीय राजधानी ने लगे जिलों में लोगों की आवाजाही का हवाला दिया। बता दें कि हरियाणा के चार जिले गुड़गांव, फरीदाबाद, सोनीपत और झज्जर में 1500 से अधिक मामले मिल चुके हैं। राज्य के स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, फरीदाबाद में राज्य में सबसे अधिक सात मौतें हुई हैं, जबकि गुडगांव में तीन और सोनीपत में एक मरीज की मौत हुई है। गुरुवार को गुड़गांव में कोरोना वायरस के 68 नए मामले सामने आए हैं।

दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर जाम
हरियाणा सरकार द्वारा गुरुवार को राजधानी दिल्ली के साथ लगी सीमाओं को सील करने के बाद शुक्रवार को बड़ी संख्या में लोग दिल्ली-गुरुग्राम सीमा पर इकट्ठा हो गए। इसके चलते यहां जाम जैसे हालात उत्पन्न हो गए। बॉर्डर सील होने के कारण पुलिस किसी को भी गुरुग्राम जिले की सीमा में दाखिल नहीं होने दे रही है। 

दिल्ली-गाजियाबाद सीमा पर सख्त चौकसी के चलते लगा ट्रैफिक जाम
वहीं, दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर पर भी शुक्रवार को वाहनों की भारी आवाजाही देखी गई। जिले में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या में वृद्धि को देखते हुए गाजियाबाद प्रशासन ने सोमवार को दिल्ली से लगी इसकी सीमा को सील कर दिया था, जिसके चलते यहां वाहनों की भीड़ बड़ी संख्या में जमा हो गई। यहां पुलिसकर्मी आवाजाही कर रहे लोगों के ई-पास की सख्ती से जांच कर रहे थे, इसलिए शुक्रवार सुबह गाजीपुर के पास ट्रैफिक जाम होते देखा गया। सड़क पर लगे बैरिकेडिंग से भी यह समस्या उत्पन्न हुई। सीमा पार करने की अनुमति केवल उन लोगों को ही दी जा रही है, जिनके पास वाकई में कोई आवश्यक काम हो। डॉक्टरों, पुलिस कर्मियों, पैरामेडिकल स्टाफ और मीडिया कर्मियों को भी अपने पहचान पत्र के साथ सीमा पार जाने की अनुमति दी जा रही है।