दो महिलाओं को कोरोना पोजिटिव पाए जाने पर अच्छेज गांव व भगत सिंह कालोनी बहादुरगढ़ कॉनटेंमेंट एरिया घोषित

झज्जर, 26 मई
झज्जर जिला के गांव अच्छेज तथा भगत सिंह कालोनी बहादुरगढ़ निवासी दो महिलाओं को कोरोना पोजिटिव पाए जाने पर जिला प्रशासन की ओर से अच्छेज गांव व बहादुरगढ़ की भगत सिंह कालोनी को कॉनटेंमेंट एरिया घोषित किया है। कोविड-19 वैश्विक महामारी में कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के उद्देश्य से जिलाधीश जितेंद्र कुमार की ओर से यह निर्णय लिया है। गौरतलब है कि झज्जर जिला के गांव अच्छेज निवासी एक महिला कोरोना पोजिटिव गुरूग्राम में मिली हैं और गुरूग्राम में ही एडमिट हैं तथा बहादुरगढ़ की भगत सिंह कालोनी निवासी महिला जो रोहतक पीजीआई में दाखिल है, के मद्देनजर स्वास्थ्य सुरक्षा के आधार पर झज्जर जिला प्रशासन की ओर से गांव अच्छेज व बहादुरगढ़ की भगत सिंह कालोनी को कॉनटेंमेंट एरिया के रूप में चिह्निïत किया गया है।

जिलाधीश श्री जितेंद्र कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि कॉनटेंमेंट एरिया के लिए आदेश जारी कर दिए गए हैं। एसडीएम झज्जर श्रीमती शिखा गांव अच्छेज तथा एसडीएम बहादुरगढ़ श्री तरूण पावरिया बहादुरगढ़ शहर की भगत सिंह कालोनी कॉनटेमंट एरिया की अपडेट रिपोर्ट देंगे। जिलाधीश ने आदेश में कहा कि कॉनटेंमेंट एरिया के तहत गांव अच्छेज व बहादुरगढ़ शहर की भगत सिंह कालोनी वार्ड-13 को पूरी तरह से सील किया जा रहा है। साथ ही उक्त संक्रमित लोगों के घर के आसपास के लोगों को घर से बाहर निकलने सहित अन्य स्थानों पर आवागमन पर भी पूर्णतया प्रतिबंद्ध रहेगा। उक्त एरिया में अधिकृत वाहनों को छोड़कर किसी भी वाहन का संचालन नहीं होगा। उन्होंने बताया कि कॉनटेंमेंटएरिया के लोगों की स्वास्थ्य की जांच नियमित तौर पर होगी और सभी स्वास्थ्य विभाग की ओर से नियुक्त की गई टीमें घर- घर जाकर थर्मल स्केनिंग का कार्य करेंगी। इसके साथ- साथ कोरोना वायरस से बचाव के लिए आवश्यक तरीकों की भी जानकारी देंगी।
जिलाधीश ने बताया कि कॉनटेंमेंट एरिया में लोगों के आने-जाने पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध रहेगा। इस व्यवस्था को कायम रखने के लिए पर्याप्त पुलिस नाका स्थापित करवाए जा रहे हैं। नियमों की अवहेलना न हो इसके लिए सुरक्षा के लिहाज से पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती भी कर दी गई है। उन्होंने बताया कि उक्त एरिया के निवासियों के लिए आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति व्यवस्थित ढंग से ही होगी। लोगों को घबराने की आवश्यकता नहीं है, उनके स्वास्थ्य सेवा की दिशा में ही प्रशासन की ओर से यह कदम उठाए गए हैं। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।