मंडियों में अब गेहूं की आवक काफी कम, बैगों के उठान की अब भी बनी है समस्या

  • मंडियों में अब तक हुई 7 लाख 8 हजार एमटी गेहूं की आवक, उठान हुआ साढ़े 5 लाख एमटी का

जींद. जिले की मंडियों में गेहूं की आवक काफी कम हो गई है। रोजाना एक हजार एमटी के आसपास ही मंडियों में गेहूं की आवक हो रही है। इसके बाद भी उठान में तेजी नहीं आई है। डेढ़ लाख एमटी से ज्यादा खरीदे गए गेहूं का मंडियों से अभी भी उठाना होना बाकी है। जींद सहित कई अनाज मंंडियों में अब भी गेहूं के बैगों के ढेर लगे हुए हैं। रोजाना जो फसल का उठान हो रहा है व काफी कम है। यदि इसी गति से मंडियों में उठान कार्य चला तो फिर इसमें काफी समय लगेगा। इस दौरान बीच में बारिश आती है तो फिर खरीदे गए गेहूं को काफी नुकसान होगा।

डीसी डाॅ. आदित्य दहिया ने रविवार को बताया कि शनिवार शाम तक जिला भर की मंडियों में 7 लाख 8 हजार 27 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद की जा चुकी है इस दौरान उचाना में 77752 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद हुई हैं।

जुलाना| अनाज मंडी में 74348 मीट्रिक टन, नरवाना 76114 मंडी मीट्रिक टन, जींद की मंडी 77795 मीट्रिक टन, पिल्लूखेड़ा में 59458 मीट्रिक टन गेहूं खरीदा गया है। सफीदों मंडी में 71989 मीट्रिक टन , नगूरां में 27625 मीट्रिक टन धमतान में 25202 मीट्रिक टन, अलेवा में 24020 मीट्रिक टन, गढ़ी में 11758 मीट्रिक टन, लुदाना में 12868 मीट्रिक टन, उझाना में 16390 मीट्रिक टन मीट्रिक टन की खरीद की गई।

उचाना में 22 लाख से अधिक बैग का हुआ उठान
उचाना। गेहूं के सीजन से लेकर अब तक गेहूं का उठान तेजी से होने के चलते 22 लाख से अधिक गेहूं के बैगों का उठान हो चुका है। इस बार गेहूं के सीजन में खरीद से लेकर गेहूं के उठान तक में कोई परेशानी नहीं हुई। परचेज सेंटर घोघड़िया, काब्रच्छा, सब यार्ड छातर, उचाना मंडी सहित आस-पास मे बने अस्थाई खरीद केंद्रों में शनिवार तक 23 लाख 55 हजार गेहूं के बैगों की खरीद हुई। इसमें से 22 लाख 11 हजार गेहूं के बैगों का उठान हो चुका है। मार्केट कमेटी सचिव सतबीर सिंह ने बताया कि गेहूं की खरीद से लेकर उठान मे आढ़तियों, किसानों, मजदूरों का पूरा सहयोग रहा।

अलेवा में बैगों से अटी पड़ी मंडी
अलेवा। सरकारी खरीद एजेंसियों द्वारा नगूरां परचेज सैंटर व अलेवा अनाज मंडी से गेहूं के बैगो का उठान कार्य धीमा होने से मंडी व सैंटर बैगों से अटे पड़े है। इससे आढ़तियों को गेहूं की फसल को कच्चे में ढ़ेर लगाकर तोल कराने काे विवश होना पड़ रहा है। अनाज मंडी में तो गेहूं के बैगों का उठान सही प्रकार से हो रहा है, जबकि नगूरां परचेज सैंटर पर लेबर की कमी के कारण उठान धीमा हो रहा है।

अनाज मंडी, राजकीय कालेज व नगूरां परचेज सैंटर पर रविवार तक सरकारी एजेंसी हैफेड व वेयरहाउस द्धारा दस लाख 12 हजार बैगो की खरीद की जा चुकी है। रिकार्ड के अनुसार दोनों एजेसियो द्धारा रविवार दोपहर तक अनाज मंडी व, राजकीय क काॅलेज में बनाए परचेज सैंटर व नगूरां परचेज सैंटर से 6 लाख चार हजार बैगों का ही उठान कराया गया है। मार्केट कमेटी के सचिव कृष्ण कुमार ने बताया कि अनाज मंडी से बैगों का उठान ठीक तरह से चल रहा है।