पूर्व की भांति बाजार खुले, फिर बंद हुए सीएसडी कैंटीन में बंटा शराब का काेटा

  • लाॅकडाउन 4 के शुरू हाेने से ही व्यापारियाें में अपने प्रतिष्ठानाें के खाेलने काे लेकर संशय बरकरार

महेंद्रगढ़. लाॅकडाउन 4 के शुरू हाेने से ही व्यापारियाें में अपने प्रतिष्ठानाें के खाेलने काे लेकर संशय बना हुआ है। हालांकि प्रशासन की तरफ से पहले लेफ्ट राइट का फरमान जारी हुआ, बाद में लाॅकडाउन-3 की तरह ही निर्धारित डे के अनुसार ट्रेड स्तर पर दुकानें खुलने के निर्देश जारी हुए। इन सबके बीच व्यापारी अपने हिसाब से ही अपनी दुकानें खाेल रहे हैं। खासबात यह है कि इसके बाद भी प्रशासन की तरफ से काेई कार्रवाई नहीं गई। नतीजा यह हुआ की रविवार काे आम दिनाें की तरह शहर के सभी बाजार खुल गए। सभी ट्रेड से संबंधित प्रतिष्ठानाें के खुलने से बाजार में एकाएक भीड़ बढ़ने लगी। साेशल डिस्टेंसिंग देखने काे नहीं मिली। इससे पुलिस प्रशासन सक्रिय हुआ। पुलिस ने व्यापारियाें से रविवार अवकाश के चलते दुकानें नहीं खाेलने के लिए कहा। इस पर बाद में एक-एक करके पुलिस प्रशासन ने सभी बाजार बंद कराए।

मेडिकल व सब्जी की दुकानें खुली रही
रविवार दाेपहर बाद पुलिस प्रशासन ने सभी बाजाराें में दुकानाें को बंद कराया। जबकि मेडिकल व सब्जी की दुकानें खुली रही। खासकर सभी मुख्य चाैराहाें, माेहल्लाें व सब्जी मंडी के बारह सब्जी व फल की रेहड़ियों व फड़ों की कतार देखी गई। वाे बात अलग रही कि बाजार बंद हाेने से इनके पास भी ग्राहक नहीं देखे गए।

सीएसडी कैंटीन में बांटा शराब का काेटा

यहां हम आपकाे बता दें कि सीएसडी कैंटीन में शनिवार से शराब का काेटा बंटना शुरू हुआ था। पहले दिन करीब 800 पूर्व सैनिकाें ने अपना काेटा लिया था। इसके चलते भारी भीड़ कैंटीन के सामने देखी गई। वाे बात अलग रही कि बाद में कैंटीन प्रबंधकाें द्वारा पूर्व सैनिकाें काे टाेकन देने की व्यवस्था यादव सभा में की। जिससे कैंटीन के सामने लगने वाली भीड़ समाप्त हाे गई। रविवार काे कैंटीन मैनेजर ने पूरी व्यवस्था के साथ काेटे का वितरण शुरू कराया। पूर्व सैनिक साेशल डिस्टेंसिंग का प्रयाेग करें, इसके लिए कुर्सियाें का प्रबंध किया गया। धूप ना लगे इसके लिए आसमान लगाया गया। साथ ही पूर्व सैनिक संघ के पदाधिकारियाें का भी प्रबंध करने में सहयाेग लिया गया। जिससे काेई समस्या नहीं हुई।