दिल्ली में गिरफ्तार रोहतक की छात्रा के पक्ष में जताया रोष

रोहतक. अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति ने दिल्ली में सीएए विरोधी कार्रवाई में भागीदारी करने वाली छात्राओं नताशा नरवाल व दिवांगना कलीता की गिरफ्तारी को लेकर विरोध किया। जनवादी महिला समिति के कार्यकर्ताओं ने शीला बाईपास पर प्रदर्शन करते हुए न्याय की मांग उठाई। इनमें नताशा नरवाल राेहतक की रहने वाली है।

संगठन की नेताओं ने कहा कि युवा लड़कियों के खिलाफ हिंसा तथा दमन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सरकार तानाशाही रवैया अपनाते हुए उन्हें जेल में बंद कर रही है। एक तरफ तो महामारी के चलते कैदियों की भीड़ कम करने के लिए उन्हें रिहा किया जा रहा है, दूसरी तरफ नौजवान आंदोलनकारियों को जेलों में ठूंसा जा रहा है। संगठन की नेताओं ने कहा कि अगर युवा लड़के लड़कियों को रिहा नहीं किया जाता तो आंदोलन छेड़ा जाएगा। शनिवार शाम 6 बजे दिल्ली पुलिस ने जेएनयू की छात्रा नताशा नरवाल व देवांगना कलिता को गिरफ्तार किया है। इससे पहले भी इसी तरह से सीएए विरोधी कार्रवाई में शामिल होने वाले कई युवा लड़के-लड़कियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है।

प्रदर्शनकारियों में जनवादी महिला समिति की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जगमती सांगवान, राज्य महासचिव सविता, जिला सचिव वीना मलिक, जिला अध्यक्ष राजकुमारी दहिया, कार्यकारी अध्यक्ष अनीता सांपला, अंजू, अंजलि, सरसीज सिवाच, मुनमुन हजारिका, गायत्री, राखी, उर्मिल, जयस्वी तथा डीवाईएफआई के राज्य सह सचिव संदीप सिंह उपस्थित रहे।