अब तक विदेश से लौटे 18 लोग, इंडोनेशिया में काम करने वाला और सिंगापुर में पढ़ने वाला युवक लौटा

  • विदेश घूम कर आए दुड़ाना निवासी दंपती काे भी किया क्वारेंटाइन

जींद. विदेशों में फंसे भारतीय लोगों का वापस आने का सिलसिला शुरू हो चुका है। जींद जिले के 13 लोग अब तक जींद आ चुके हैं, जिसमें से दो कोरोना पॉजिटिव भी मिले हैं, जबकि बाकी 11 के भी सैंपल हो चुके हैं, जिन्हें निजी होटल व जाइट कॉलेज में क्वारेंटाइन किया गया है। विदेश में मर्चेंट नेवी में नौकरी करने वाले युवक की बात हो या फिर होटल मैनेजमेंट का कोर्स करने गए युवक भी वापस आ चुके हैं। वापस आने वालों में अधिकतर छात्र हैं।

विदेश में घूमने गया एक दंपती भी जींद वापस आ चुका है। उन्हें भी क्वारेंटाइन किया गया है। इन सभी को पहले दिल्ली, अमृतसर के हवाई अड्डों पर लाया गया, जहां से आगे इन्हें पंचकूला, फरीदाबाद और गुरुग्राम में क्वारेंटाइन किया गया था। जींद आने के बाद सभी के सैंपल किए गए और उसके बाद उन्हें अलग-अलग होटलों व जाइट कॉलेज में बनाए गए क्वारेंटाइन सेंटर में 14 दिनों के लिए रखा गया है, जबकि पॉजिटिव पाए गए दो केसों में उन्हें पीजीआई रोहतक भेज दिया गया है।

जींद जिले में लगभग 125 लोग विदेश से आने हैं। विदेश से आने वाले लोगों के लिए प्रशासन की तरफ से होटल बुक किए गए हैं, जहां उन्हें क्वारेंटाइन अवधि पूरी करनी है। क्वारेंटाइन समय पूरा होने के बाद ही वह दोबारा जांच में सही पाए जाने पर घर जा सकेंगे। रविवार को दो लोग विदेश से लौटे। इनमें कालवन निवासी समीर नैन मेलबर्न में काम करता था। इसके अलावा नारायणगढ़ निवासी दीपक कुमार सिंगापुर में होटल मैनेजमेंट का कोर्स कर रहा था।

7 साल से इंडोनेशिया में जॉब कर रहा विकास

जींद के शांति नगर का रहने वाला युवक विकास इंडोनेशिया में मर्चेंट नेवी में नौकरी करता है। वह पिछले लगभग 7 साल से इंडोनेशिया में था। कोरोना के चलते वह भारत वापस आया। वह 21 मई को अल सुबह जींद पहुंचा, जहां से उन्हें नागरिक अस्पताल जांच के लिए ले जाया गया। इसके बाद युवक को सफीदों रोड स्थित निजी होटल में ठहराया गया है।

होटल मैनेजमेंट का कोर्स करने गया था दीपक
नारायगढ़ गांव निवासी दीपक अप्रैल 2019 को सिंगापुर में होटल मैनेजमेंट कोर्स के लिए गया था। 30 अप्रैल को उसका कोर्स पूरा होने के बाद उसने भारत के लिए वापस आने की तैयारी कर ली थी। वह आज सिंगापुर से जींद पहुंचा है। उसके भाई संजीव ने बताया कि दीपक को जींद के जाइट कॉलेज में क्वारेंटाइन किया गया है। उसका एक साल का कोर्स पूरा हो गया है। वह अपने खर्चे पर वापस आया है।

विदेश घूमने गया दुड़ाना गांव का दंपती भी लौटा

दुड़ाना निवासी दपंती विदेश घूमने गया था। वह 20 मई को जींद पहुंचा था, जहां से उन्हें निजी होटल में क्वारेंटाइन कर दिया गया है। इससे पहले जींद के नागरिक अस्पताल में जांच की गई। दंपती दुबई में घूमने के लिए गया हुआ था, लेकिन दो माह से लॉकडाउन के चलते वहां पर फंसकर रह गया। अब इंटरनेशनल उड़ान शुरू होने के बाद विदेश में फंसे सभी लोगों को वापस लाया जा रहा है। दंपती को इंटरनेशनल हवाई अड्डा नई दिल्ली लाया गया, जहां से मेडिकल जांच के बाद उन्हें भेज दिया गया। इसके बाद दंपती जींद पहुंचा, जहां से उन्हें नागरिक अस्पताल ले जाया गया और जांच करने के बाद उन्हें सफीदों रोड स्थित निजी होटल में क्वारेंटाइन कर दिया गया है।