हरियाणा में 1 दिन में 63 केस, पंजाब में 16वीं मौत, 14 मामले, कुल संक्रमितों का आंकड़ा 1140 हो गया

  • चंडीगढ़ में कोरोना वायरस के 13 नए केस आए, सभी बापूधाम से
  • पिछले 24 घंटाें में अमृतसर और जालंधर में 4-4, पटियाला में 3 केस

चंडीगढ़. चंडीगढ़ में कोरोना के मामले थम नहीं रहे हैं, शनिवार को 13 नए केस आए। सभी संक्रमित बापूधाम से हैं। वहीं अमेरिका से डिपोर्ट किए गए 73 लोगों में से 21 की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, ये सभी चंडीगढ़ में क्वारेंटाइन सेंटर में रखे थे और हरियाणा के अलग-अलग जिलों के रहने वाले हैं। इन्हें मिलाकर हरियाणा में शनिवार को एक दिन में ही 63 नए केस आए हैं। हरियाणा में अब कुल संक्रमितों का आंकड़ा 1140 हो गया है। जबकि ठीक होने वालों की संख्या भी 750 पर पहुंच गई है।

अब तक 17 मरीजों की मौत हुई है। वहीं पंजाब में 14 नए केस आए। अमृतसर में 2 दिन पहले पॉजिटिव आए 60 वर्षीय शॉल कारोबारी विमल मेहरा की शनिवार को जीएनडीएच अस्पताल में मौत हो गई। मृतक के परिवार के 3 सदस्यों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। इसके अलावा अजनाला में भी एक व्यक्ति संक्रमित पाया गया। पिछले 24 घंटाें में अमृतसर और जालंधर में 4-4, पटियाला में 3, गुरदासपुर, पठानकाेट और मुक्तसर में 1-1 केस आया। संक्रमिताें की संख्या अब 2160 पहुंच गई है।

4 माह के बच्चे की नाक से जब सैंपल लिए गए तो दादी ने आंखें मूंद ली

सिविल अस्पताल में शनिवार को बड़े बाजार का एक परिवार कोरोना टेस्ट करवाने के लिए पहुंचा। इस दौरान डॉक्टर भी चिंतित दिखे, क्योंकि जांच कराने आए परिवार में एक चार माह का बच्चा भी था। जब बच्चे के टेस्ट की बारी आई तो मां ने कहा कि वह नन्हीं सी इस जान की जांच नहीं देख पाएगी। बच्चे के पिता ने तब अपनी मां को बुलाया। फिर दादी ने उसे गोद में लिया। जब डॉक्टर बच्चे के नाक से सैंपल ले रहे थे, तब दादी भी यह सब देख न पाईं।

हिमाचल प्रदेश में 17 नए केस, कुल संक्रमित 185

कोरोना के मामले में हिमाचल की स्थिति पहले और दूसरे लॉकडाउन खत्म होने तक देशभर में सबसे बेहतर थी। कुल 40 मामले थे और 3 मई तक सिर्फ 2 केस एक्टिव थे। लेकिन अब हालात बदल चुके हैं। 23 मई को आए 17 केसों के साथ कुल पॉजिटिव केस 185 हो चुके हैं। इनमें 116 एक्टिव हैं। जबकि इससे पहले दोनों लॉकडाउन के 40 दिन में सिर्फ 40 केस आए थे। पहले केस इसलिए नहीं आए क्योंकि हिमाचल ने बाहर से किसी भी व्यक्ति को राज्य में घुसने नहीं दिया था। लेकिन फिर दूसरे राज्यों में फंसे या रहने वाल हिमाचल वासियों को आने के लिए बॉर्डर खोल दिए गए।