शराब लेने सैकड़ों की संख्या में सीएसडी कैंटीन पहुंचे पूर्व सैनिक

  • नियम के पाबंदों की शराब के लिए धक्का-मुक्की
  • रोड पर खड़े किए वाहन बनी रही जाम की स्थिति

महेंद्रगढ़. करीब दो माह बाद सीएसडी कैंटीन में शराब मिलने की जानकारी को लेकर शनिवार सुबह काफी संख्या में सैनिक व पूर्व सैनिकों की भीड़ उमड़ पड़ी। रोड पर खड़े इनके वाहनों की संख्या भी काफी होने के कारण रुक-रुक कर जाम की स्थिति बनती रही। पुलिस कर्मचारियों को भी व्यवस्था बनाने में काफी पसीना बहाना पड़ा। कैंटीन प्रशासन ने भीड़ को नियंत्रित करने व उन्हें तेज धूप से बचाने को लेकर यादव धर्मशाला में टोकन देने की व्यवस्था की। वहां से टोकन लेकर आने वालों को ही कैंटीन में शराब मिली।

करीब दो माह बाद शनिवार को सीएसडी कैंटीन में शराब मिलनी शुरू हुई है। शराब लेने के लिए आए पूर्व सैनिकों के साथ-साथ उनके परिजन भी आने से कैंटीन के सामने सुबह करीब 9 बजे तक काफी भीड़ रही। साथ ही लोगों ने अपने वाहन भी कैंटीन के सामने ही रोड पर खड़े कर दिए। पुलिस प्रशासन व कैंटीन प्रबंधन ने उन्हें टोकन देने को यादव धर्मशाला में इकट्ठा किया।नहीं बन पाया सोशल डिस्टेंस : शराब लेने पहुंचे पूर्व सैनिकों व उनके साथ आए परिजनों के कारण उनकी संख्या काफी अधिक रही। ऐसे में सोशल डिस्टेंस की पालना कैसे हो? जब उन्हें यादव धर्मशाला में एकत्रित किया गया। तो वहां लाइनों में बैठाया गया, परंतु वहां भी भीड़ अधिक होने के कारण सोशल डिस्टेंस नहीं बन पाया।

ऐसे में कैंटीन प्रशासन को जिस प्रकार से सामान देने के लिए व्यवस्था बनाई हुई है उसी प्रकार से शराब का कोटा बांटने की व्यवस्था बनाने की जरूरत है अन्यथा कोरोना संक्रमण का खतरा बन सकता है। कैंटीन प्रबंधक राजेन्द्र सिंह ने बताया कि करीब दो माह बाद शराब का कोटा बांटा जा रहा है। पात्र लोगों को अल्फाबेट के हिसाब से बुलाया जाएगा। पहले दिन कुछ ज्यादा लोग आ गए। आगे से पूरी व्यवस्था के हिसाब से ही पात्रों को बुलाया जाएगा। पहले दिन कैंटीन प्रशासन ने करीब 800 लोगों को शराब बांटी।