लोहे की रॉड से चोरों ने पहले बैंक के मुख्य गेट का शटर उखाड़ा, फिर कैंची गेट तोड़ा

  • पड़ोस की महिला ने आवाज सुन पुलिस को दी सूचना, लुटने से बचा सेंट्रल बैंक

करनाल. शहर के साईं मंदिर के पास स्थित सेंट्रल बैंक के मुख्य शटर को तोड़कर चोरों ने बैंक को लूटने का प्रयास किया। लेकिन बैंक के साथ मौजूद पड़ाेस के एक मकान में रहने वाली बुजुर्ग महिला की आंख खुल गई। जिस कारण उसने अपने बेटे को पुलिस को फोन करने की बात कही। महिला के बेटे की सूझबूझ से बैंक लुटने से बच गया।

चोरों ने बैंक का मेन शटर और उसके बाद कैंची गेट तोड़ दिया था। चोरों की बैंक में इंट्री नहीं हो पाई थी। हालांकि शटर डेढ़ फीट ऊपर उठाया हुआ था। सूचना पर पुुलिस मौके पर पहुंची तो आरोपी मौके से भाग ‌गए। हालांकि पुलिस ने 500 मीटर तक आरोपी का पीछा भी किया, लेकिन वह एक पार्क के पास स्थित एक दीवार फांदकर फरार हो गया। बैंक के पास स्थित मकान के मालिक ‌चेतन शर्मा ने बताया कि उसकी माता कमलेश शर्मा रात को करीब ढाई बजे वॉशरूम जाने के लिए उठी थी। इसी दौरान उसकी माता को बैंक के पास से लोहे की रॉड लगने की आवाज आई। उसकी माता अंदर बेड पर आकर लेट गई। करीब आधे घंटे तक भी उसे आवाज आती रही। उसकी माता ने दूसरे कमरे में आकर उसे उठाया। उसने तुरंत पुलिस कंट्रोल रूम में 100 नंबर पर फोन किया। वहां से नंबर लेकर थाना प्रभारी मुनीष कुमार काे फाेन किया। थाना प्रभारी ने ‌तुरंत पुलिस कर्मचारी भेजने की बात कही। थोड़ी देर बाद दो पुलिस कर्मचारी मौके पर पहुंचे। थाना प्रभारी ने भी मौके पर पहुंचकर साक्ष्य जुटाए।